Raj Express
www.rajexpress.co
महीने भर चलेगा जल महोत्सव
महीने भर चलेगा जल महोत्सव|जल महोत्सव, मध्यप्रदेश
मध्य प्रदेश

मध्यप्रदेश में 'पर्यटन' के ज़रिए मिलेंगे रोज़गार के नए अवसर

हनुवंतिया में चल रहे जल महोत्सव में मुख्यमंत्री ने की पर्यटन को रोज़गार से जोड़ने की घोषणा। महाकालेश्वर, ओंकारेश्वर, महेश्वर, मांडू, मोहनखेड़ा और सिंगाजी को मिलाकर बनाया जाएगा नया टूरिस्ट सर्किट।

प्रज्ञा

प्रज्ञा

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के खंडवा जिले के हनुवंतिया में 'जल महोत्सव' मनाया जा रहा है। जल महोत्सव का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री कमल नाथ ने पर्यटन की असीम संभावनाओं को रोजगार से जोड़ने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि, 'हम ऐसी रणनीति बना रहे हैं, जिससे पर्यटन स्थल राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय आकर्षण का केन्द्र बन जाएं। जिससे लोगों को व्यापक पैमाने पर रोजगार उपलब्ध हों।'

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने हनुवंतिया जलाशय में मोटर बोट क्रूज को हरी झंडी दिखाई और 72 करोड़ की लागत से होने वाले 35 निर्माण कार्यों का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि, 'इससे प्रदेश के नागरिकों की आय में वृद्धि होने के साथ उनके जीवन-स्तर में भी सुधार ला सकते हैं। हनुवंतिया जैसे अन्य पर्यटन स्थलों का भी सुनियोजित विकास किया जाएगा। इससे बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा।'

"मनोरंजन की दृष्टि से पर्यटन क्षेत्र सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। हमारे प्रदेश में विश्व-स्तर के पर्यटन स्थल हैं। बड़ी संख्या में जल और वन संपदा है। जरूरत है कि हम अपनी इस संपदा को आर्थिक और रोजगार की दृष्टि से विकसित करें।"

कमल नाथ, मुख्यमंत्री (मध्यप्रदेश)

विकसित होगा नया टूरिस्ट सर्किट-

कार्यक्रम में राज्य सरकार के पर्यटन मंत्री सुरेन्द्र सिंह बघेल ने बताया कि, 'महाकालेश्वर, ओंकारेश्वर, महेश्वर, मांडू, मोहनखेड़ा और सिंगाजी को मिलाकर एक टूरिस्ट सर्किट विकसित किया जाएगा। मांडू में आदिवासी संस्कृति, परम्परायें और उनके खान-पान से पर्यटकों को परिचित कराने की शुरुआत की गई है।'

सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि, 'राज्य सरकार धार्मिक और ट्राइबल टूरिज्म को बढ़ावा दे रही है। मुख्यमंत्री ने पिछले दिनों उज्जैन स्थित महाकालेश्वर के लिए 300 करोड़ और ओंकारेश्वर के लिये 156 करोड़ की योजनाओं को स्वीकृत किया है।'

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तुलसीराम सिलावट ने ओंकारेश्वर परियोजना स्वीकृत करने के लिए मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने बताया कि खण्डवा जिले के 46 हजार किसानों का 128 करोड़ का कर्ज जय किसान फसल ऋण माफी योजना में माफ किया गया है। योजना के दूसरे चरण में जिले के 9278 किसानों का 66 करोड़ रुपये का फसल ऋण माफ किया जा रहा है।

कार्यक्रम को पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री अरुण यादव और विधायक श्री नारायण पटेल ने भी संबोधित किया।

'पहला कदम' टेबलेट का लोकार्पण और वितरण-

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने जल महोत्सव में खण्डवा जिले के 319 आँगनबाड़ी केन्द्रों के लिये 'पहला कदम' टेबलेट का लोकार्पण और वितरण किया। इस टेबलेट के जरिए आँगनबाड़ी में बच्चों को डिजिटल लर्निंग के लिए तैयार किया जाएगा। इससे 11 हजार 803 बच्चों के लाभान्वित होने की संभावना जताई जा रही है।

एक माह तक चलेगा जल महोत्सव-

हनुवंतिया में शुरु हुआ जल महोत्सव एक माह तक चलेगा। इंदिरा सागर बांध एशिया का दूसरा सबसे बड़ा मानव निर्मित जलाशय है। इस स्थल पर नर्मदा नदी पर बाँध के बैक वॉटर से बड़ी संख्या में प्राकृतिक रूप से टापू निर्मित हुए हैं। इसकी शुरुआत मूंदी से कुछ किलोमीटर दूरी पर हनुवंतिया से होती है। महोत्सव के शुभारंभ समारोह में बड़ी संख्या में पर्यटक, क्षेत्रीय नागरिक एवं वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।