वन मंत्री ने जाजागढ़ अवैध रेत उत्खनन के दिये जांच के आदेश
वन मंत्री ने जाजागढ़ अवैध रेत उत्खनन के दिये जांच के आदेश|Afsar Khan
मध्य प्रदेश

खबर का असर : वन मंत्री ने जाजागढ़ अवैध रेत उत्खनन के दिये जांच के आदेश

उमरिया, मध्य प्रदेश : बांधवगढ़ टाईगर रिजर्व के क्षेत्र संचालक सौंपेंगे मंत्री को प्रतिवेदन। कटघरे में खनिज, राजस्व व कटनी जिले के वन विभाग के अधिकारी।

Afsar Khan

उमरिया, मध्य प्रदेश। बांधवगढ़ टाईगर रिजर्व के पनपथा बफर क्षेत्र के जाजागढ़ में पार्क के बफर एरिया से निकलने वाली पिपही व जुडारी नदी के संगम स्थल पर खनिज विकास निगम के माध्यम से कटनी जिले की सभी खदानों का ठेका लेने वाली विस्टा सेल्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के द्वारा अनुबंध के बाद से ही इको सेस्टिव जोन जाजागढ़ और उसके आस-पास के क्षेत्र में अवैध उत्खनन किया जा रहा था। कटनी के अधिकारियों का खुला संरक्षण सफेद पोश और रसूखदारों के चलते था, जिसके चलते कंपनी के द्वारा मानसून सत्र में भी रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन कराया जा रहा था। गुरूवार को जिले के प्रवास पर बांधवगढ़ पहुंचे वनमंत्री विजय शाह ने पूरे मामले में राज एक्सप्रेस के द्वारा प्रकाशित खबरों पर संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दिये हैं।

जांच में खुलेंगे राज :

वनमंत्री के द्वारा मानसून सत्र के दौरान विस्टा कंपनी के द्वारा जाजागढ़ व उसके आस-पास के क्षेत्र में किये जा रहे अवैध उत्खनन और परिवहन के मामले में जांच के आदेश जारी कर दिये गये हैं। अब अगर अधिकारी इस मामले में सही तौर पर जांच करेंगे तो, कटनी जिले के कई अधिकारियों पर गाज गिर सकती है, इसके अलावा कंपनी को संरक्षण देने वाले सफेदपोश और रसूखदारों के नाम भी सामने आ सकते हैं। वहीं एनजीटी के निर्देश और सिया के आदेशों की अवहेलना करने पर आपराधिक प्रकरण के साथ जुर्माना भी कंपनी के ऊपर हो सकता है।

क्षेत्र संचालक को सौंपी जिम्मेदारी :

वनमंत्री विजय शाह ने राज एक्सप्रेस की खबरों पर संज्ञान लेते हुए जाजागढ़ मामले की जांच बांधवगढ़ टाईगर रिजर्व के क्षेत्र संचालक विसेन्ट रहीम को सौंपी हैं। इस दौरान डीएफओ कटनी रमेश चंद्र विश्वकर्मा ने वन मंत्री को बताया कि जिस स्थान से रेत का खनन किया जा रहा है, वह बांधवगढ़ टाईगर रिजर्व के पनपथा रेंज के इको सेस्टिव जोन के दायरे में आता है। इस दौरान संयुक्त संचालक सिद्धार्थ गुप्ता सहित एसडीओ अनिल शुक्ला, पनपथा रेंजर वीरेन्द्र ज्योत्षी सहित अन्य अधिकारी, कर्मचारी मौजूद रहे।

देनी होगी विस्तृत रिपोर्ट :

मानसून सत्र् के दौरान विस्टा कंपनी के द्वारा जाजागढ़ वन क्षेत्र और उसके आस-पास के दायरे में पिपही व जुडारी नदी में किये गये अवैध उत्खनन और परिवहन की विस्तृत रिपोर्ट वनमंत्री ने जल्द ही तलब की है। इस पूरे मामले में बडवारा वन मण्डल के साथ ही बरही वन परिक्षेत्र के अधिकारियों की भी संलिप्तता उजागर हो सकती है, बिसपुरा में पदस्थ बीटगार्ड पंकज द्विवेदी की कार्य प्रणाली भी कटघरे में खड़ी होगी, कथित कंपनी के ऊपर वन अधिनियम, पर्यावरण संरक्षण अधिनियम, वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम, ध्वनि, जल एवं वायु अधिनियम के तहत प्रकरण भी दर्ज हो सकता है।

मंत्री ने देखी कंपनी की काली करतूत :

राज एक्सप्रेस द्वारा विस्टा कंपनी के द्वारा जाजागढ़ में खनिज के अवैध उत्खनन के मामले को प्रकाशित करने के बाद वन मंत्री विजय शाह तक यह मामला पहुंचा, बीते दिवस बांधवगढ़ में अल्प प्रवास पर आये श्री शाह ने प्रकाशित समाचार का अवलोकन कर इस संदर्भ में जांच व कार्यवाही की बातें भी कहीं। श्री शाह ने कहा कि प्रदेश भाजपा सरकार खनिज व भू-माफिया सहित सभी तरह के माफियाओं को जड़ से खत्म करने के लिए कटिबद्ध है, जनता ने हमें स्वच्छ प्रशासन देने के लिए प्रदेश की जिम्मेदारी सौंपी है। इस अवैध कारोबार का सूत्रधार कोई भी हो, कार्यवाही में मुंह देखी नहीं की जायेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co