Raj Express
www.rajexpress.co
आरोह की टीम और बच्चे
आरोह की टीम और बच्चे|आरोह
मध्य प्रदेश

गरीब बच्चों को पढ़ाने वाले भोपाल के युवा, 2 से 400 पार होने की कहानी...

2 लोगों द्वारा शुरू की गई एक स्वयं सेवी संस्था आज 400 से ज्यादा वॉलेंटियर्स की मदद से भोपाल के 700 से अधिक गरीब बच्चों को न सिर्फ पढ़ा चुकी है बल्कि उनके सर्वांगीण विकास के लिए भी काम कर रही है।

प्रज्ञा

प्रज्ञा

राज एक्सप्रेस।

"अपने लिए तो सब जीते हैं, यहां आत्मसंतुष्टि मिलती है कि हम किसी की मदद कर रहे हैं, बच्चों की मदद कर रहे हैं।"

पंकज बकोड़े

मैनिट के विद्यार्थी पंकज बकोड़े आरोह संस्था के बारे में ऐसा बताते हैं। वे इस संस्था से लगभग एक साल से जुड़े हुए हैं और अपनी पढ़ाई के साथ-साथ गरीब बच्चों को पढ़ाकर उनकी मदद करते हैं।

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में एक स्वयं सेवी संस्था, झुग्गी-झोपड़ी के गरीब बच्चों पर काम करती है। साल 2016 से शुरू हुई ये संस्था अन्ना नगर और राहुल नगर में अपने सेंटर्स के माध्यम से बच्चों को न सिर्फ पढ़ाती है बल्कि उनके सर्वांगीण विकास के लिए काम करती है। संस्था के अंतर्गत अभी तक 700 से अधिक बच्चे लाभान्वित हो चुके हैं। साथ ही तात्कालिक स्थिति देखी जाए तो आरोह ने 15 बच्चों का दाखिला शहर के प्रतिष्ठित विद्यालयों में कराया है। इन बच्चों की फीस से लेकर पढ़ाई का सारा खर्च संस्था के माध्यम से ही किया जाता है।