मध्यप्रदेश ने आपदा प्रबंधन को दिया अंजाम
मध्यप्रदेश ने आपदा प्रबंधन को दिया अंजामRaj Express

आपदा प्रबंधन क्षेत्र में कारम डैम की आपदा के उत्कृष्ट प्रबंधन पर NIDM बनाएगा केस स्टडी

भोपाल, मध्यप्रदेश : उत्कृष्ट आपदा प्रबंधन की केस स्टडी पढ़ाई जाएगी राष्ट्रीय स्तर के संस्थानों में। मुख्यमंत्री श्री चौहान से मिला राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संस्थान का पांच सदस्य विशेषज्ञों का दल।

भोपाल, मध्यप्रदेश। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से आज भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अंतर्गत कार्यरत राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संस्थान (एनआईडीएम) के वरिष्ठ अधिकारियों और केंद्रीय जल आयोग (CWC) के अधिकारियों के पांच सदस्यीय दल ने मंत्रालय में भेंट की। इस दल द्वारा 12 से 14 अगस्त, 2022 को धार जिले के कारम बांध की आपदा से ग्राम वासियों की और पशु धन सहित अन्य संपत्तियों की रक्षा की जानकारी प्राप्त की। दल द्वारा उक्त आपदा प्रबंधन ने माननीय मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में उत्कृष्ट एवं समेकित आपदा प्रबंधन की प्रशंसा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान से दल के सदस्यों और अपर मुख्य सचिव गृह डा. राजेश राजौरा ने भेंटकर अवगत करवाया कि दल द्वारा 9 सितंबर से 11 सितंबर की अवधि में कारम बांध का भ्रमण किया तथा धार और खरगोन जिलों के प्रभावित ग्रामों का भ्रमण किया गया। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संस्थान के विशेषज्ञों के दल द्वारा बताया गया कि कारम बांध के आपदा प्रबंधन की केस स्टडी देश भर में अध्ययन का विषय बन रही है। केस स्टडी राष्ट्रीय स्तर के प्रशासनिक, पुलिस, सेना, एनडीआरएफ, सिविल डिफेंस आदि संस्थानों में अध्ययन के लिए उपलब्ध कराई जाएगी।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्माणाधीन कारम बांध से पानी के रिसाव की जानकारी मिलते ही अगस्त माह में तीन दिन वल्लभ भवन सिचुएशन रूम में दिन-रात लगातार उपस्थित रहकर राष्ट्रीय स्तर के बांध विशेषज्ञों से चर्चा की और सम्पूर्ण स्थिति पर सतत निगाह रखते हुए समुचित तथा ठोस निर्णय लेकर इस प्रकार के आपदा प्रबंधन को अंजाम दिया, जिसके कारण काई भी जनहानि, पशुधनहानि अथवा संपत्तिहानि की स्थिति निर्मित नहीं हो सकी। राज्य सरकार द्वारा तत्परता पूर्वक की गई कार्यवाही को देश भर की प्रशिक्षण संस्थाओं में अध्ययन में शामिल किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान से आज मंत्रालय में भेंट करने वालों में NIDM (राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संस्थान) के प्रो डॉ सूर्य प्रकाश, श्री अजीत बाथम, श्री हरिहर कुमार और श्री अमृतलाल हलधर और केंद्रीय जल आयोग के श्री शरद चंद्र शामिल थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co