कोरोना के बढ़ते मामलों को देख मध्य प्रदेश सरकार ने लागू किया नाइट कर्फ्यू
मध्य प्रदेश सरकार ने लागू किया नाइट कर्फ्यू Priyanka Sahu -RE

कोरोना के बढ़ते मामलों को देख मध्य प्रदेश सरकार ने लागू किया नाइट कर्फ्यू

कोरोना और नए Omicron वेरिएंट से बचने का सबसे अच्छा उपाय सावधानी से घर में रहना, इस बात को ध्यान में रखते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने प्रदेश में में एक बार फिर से नाइट कर्फ्यू लागू करने का फैसला किया है।

भोपाल, मध्य प्रदेश। भारत के कुछ राज्यों में कोरोना के नए Omicron वेरिएंट का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। देश में अब तक Omicron वेरिएंट के मरीजों का आंकड़ा 271 पर पहुंच चुका है। हालांकि, अब तक इस वेरिएंट के कदम मध्य प्रदेश तक नहीं पहुंचे हैं, लेकिन इसको नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। कोरोना और नए Omicron वेरिएंट से बचने का सबसे अच्छा उपाय सावधानी से घर में रहना, या जरूरत पढ़ने पर ही घर से निकलना है, इस बात को ध्यान में रखते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने प्रदेश में में एक बार फिर से नाइट कर्फ्यू लागू करने का फैसला किया है।

प्रदेश में नाइट कर्फ्यू लागू :

दरअसल, मध्यप्रदेश में एक बार फिर कोरोना के मामलों में बढ़त देखने को मिली है। वहीं, नए साल का आगाज होने वाला है। ऐसे में शिवराज सरकार के इरादे प्रदेशवासियों के नए साल को फीका करने के नजर आ रहे हैं। क्योंकि, प्रदेश में नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया गया है। जो कि, रात्रि 11 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा। ऐसे में नए साल का जश्न मानना भी खटाई में नजर आरहा है। प्रदेश में नाइट कर्फ्यू की जानकारी मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने दी है। उन्होंने घोषणा करते हुए कहा कि, 'यदि किसी के घर में संक्रमित मिलता है। आइसोलेशन की जगह नहीं है, तो उसे अस्पताल में भर्ती किया जाएगा। महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली में केस ज्यादा आ रहे हैं यह चिंताजनक है। मध्यप्रदेश में भी 24 घंटे में 30 केस मिले हैं।'

MP CM का जनता के नाम संबोधन :

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनता के नाम संबोधन के दौरान कोरोना की तीसरी लहर की आशंका पर चिंता जताते हुए कहा कि, 'बहनों और भाइयों बेटे और बेटियों मध्य प्रदेश में कई महीनों बाद कोविड के तीस नए प्रकरण आए हैं। पूर्व के अनुभव से यह आशंका है कि मध्य प्रदेश में भी कोरोना पॉजिटिव केस बढ़ सकते हैं। कल महाराष्ट्र में 1201, गुजरात 91 दिल्ली में 125 प्रकरण आए। पूर्व के अनुभव रहे हैं कि, गुजरात-महाराष्ट्र में जब केस बढ़े हैं तो मध्य प्रदेश में भी उसके बाद असर हुआ था। पहली व दूसरी लहर में इंदौर-भोपाल से ही शुरुआत होती है। कोरोना ने अपना स्वरूप बदला है। नया स्वरूप ओमक्रॉन देश के 16 राज्यों में आ चुका है और मध्य प्रदेश में इससे इंकार नहीं किया जा सकता कि, यहां भी ओमिक्रॉन वायरस आ जाए। कोविड का कोई केस आता है तो घर में पर्याप्त स्थान होने पर होम आइसोलेशन किया जाए। अन्यथा अस्पताल में भी भर्ती कराया जाए। कोविड की तीसरी लहर को आने से रोकने के लिए हर आवश्यक उपाय करने की अपील की है। भारत सरकार की गाइड लाइन का पालन किया जाए। अनावश्यक रूप से भीड़़ में नहीं जाएं। और मास्क जरूर पहनें। कोरोना का दूसरा डोज तुरंत लगाएं जिसने पहला नहीं लगवाया हो तो टीका जरूर लगवा लें।'

गौरतलब है कि, मध्य प्रदेश में आवश्यकता पड़ी तो और भी फैसले लिए जा सकते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co