आखिर जिंदगी की जंग हार गया मासूम प्रह्लाद, गांव में छाया मातम

निवाड़ी, मध्यप्रदेश। कोरोना संकटकाल के बीच मध्यप्रदेश के निवाड़ी जिले में बोरवेल में फंसा मासूम प्रह्लाद आखिर जिंदगी की जंग हार गया है।
आखिर जिंदगी की जंग हार गया मासूम प्रह्लाद, गांव में छाया मातम
जिंदगी की जंग हार गया मासूम प्रह्लादSocial Media

निवाड़ी, मध्यप्रदेश। कोरोना संकटकाल के बीच मध्यप्रदेश के निवाड़ी जिले में पृथ्वीपुर थाना क्षेत्र के जेतपुरा गांव में बोरवेल में फंसा मासूम प्रहलाद आखिर जिंदगी की जंग हार गया है। मिली जानकारी के मुताबिक बोरवेल में गिरा चार साल का प्रह्लाद को निकालने के लिए एनडीआरएफ और सेना की टीम लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी रही और रात 3.01 बजे उसे बाहर निकाला गया, जिसके बाद उसे रेस्क्यू टीम अस्पताल लेकर पहुंची जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

करीब 90 घंटे से बोरवेल में फंसा रहा प्रह्लाद :


बता दें कि शनिवार-रविवार की देर रात 3 बजकर 1 मिनट पर एनडीआरएफ ने रेस्क्यू ऑपरेशन पूरा कर लिया, लेकिन मासूम प्रह्लाद को बचाया नहीं जा सका।
बताते चले कि करीब 90 घंटे से प्रहलाद बोरवेल में फंसा रहा था, पानी के कारण मासूम प्रह्लाद का शरीर फूल चुका था, उसके शव को काली पॉलीथिन में लपेटकर एंबुलेंस में रखा गया, जिसके बाद मेडिकल टीम लाश को लेकर निवाड़ी जिले के स्वास्थ्य केंद्र पहुंची।

मासूम प्रहलाद
मासूम प्रहलादSocial Media

जानिए पूरी खबर

प्रदेश के निवाड़ी जिले के सैतपुरा गांव में बुधवार सुबह प्रहलाद बोरवेल के गड्ढे में गिर गया था। वह 59 फीट नीचे फंस गया था। शनिवार को बच्चे को निकालने के लिए तिरछी सुरंग बनाई जा रही थी लेकिन सुरंग ठीक से नहीं खुदी थी, इसके बाद दोबारा खुदाई शुरू की गई और रात 3.01 बजे बच्चे को निकाला गया। मासूम प्रहलाद की सकुशल वापस निकलने का इंतजार कर रहे माता-पिता और परिवार के लोगों का रो-रोकर बुरा हाल है। बच्चे की मौत की सूचना मिलने के बाद गांव में मातम पसर गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co