मध्यप्रदेश में रोजगार संबंधी कोई योजना बंद नहीं की गई : सीएम
मध्यप्रदेश में रोजगार संबंधी कोई योजना बंद नहीं की गई : सीएमRaj Express

मध्यप्रदेश में रोजगार संबंधी कोई योजना बंद नहीं की गई : सीएम

भोपाल, मध्य प्रदेश : श्री चौहान ने सोमवार को यहां मीडिया से कहा कि रोजगार संबंधी योजना का स्वरूप बदलने का विचार चल रहा है। इस पर कार्रवाई की जा रही है।

भोपाल, मध्य प्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि राज्य में रोजगार संबंधी कोई योजना बंद नहीं की गई है। श्री चौहान ने सोमवार को यहां मीडिया से कहा कि रोजगार संबंधी योजना का स्वरूप बदलने का विचार चल रहा है। इस पर कार्रवाई की जा रही है। युवा उद्यमी योजना हमने इसलिए बनाई थी कि प्रतिभाशाली युवा स्टार्टअप के जरिए उद्योगपति बन सकें। लेकिन विश्लेषण में पता चला कि युवा पहले से ही स्थापित हैं। जो ऐसे परिवारों से आते हैं, उन्हीं के परिजनों को लाभ जाता था।

श्री चौहान के मुताबिक उन्हें लगा कि जो जरूरतमंद हैं, उन्हें ही लाभ मिलना चाहिए। इसलिए फिर से योजना बनाने और स्वरूप बदलने का तय किया गया। नए स्वरूप में योजना आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाने के लक्ष्य को भी पूर्ण करने में मददगार साबित होगी। उन्होंने युवाओं को रोजगार मुहैया कराने की सरकार की प्रतिबद्धता जताते हुए कहा कि हाल ही में दो फैक्टरियों का उद्घाटन किया गया है। इस दिशा में लगातार कार्य कर रहे हैं। इनसे हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा।

कमलनाथ को सवाल पूछने का कोई अधिकार नहीं :

श्री चौहान ने यह भी कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को इस मामले में सवाल पूछने का अधिकार ही नहीं है। वे तो युवाओं को बैंड बजाने और ढोर चराने का प्रशिक्षण दिलवा रहे थे। उन्होंने युवाओं को तबाह किया और अब सवाल पूछ रहे हैं। इसके पहले कमलनाथ ने ट्वीट करके आरोप लगाया कि शिवराज सरकार किसाना विरोधी होने के साथ ही युवा और रोजगार विरोधी हैं। यह सरकार रोजगार वाली योजनाओं को बंद कर रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कृषि उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के तहत बड़ी संख्या में युवाओं को ऋण मिलने के साथ साथ अनुदान व सब्सिडी भी मिलती थी। जो प्रकरण स्वीकृत हो चुके हैं, उनके भी आवेदन रोकने का निर्णय लिया गया है। श्री कमलनाथ ने कहा कि सरकार ऐसे जनविरोधी फैसले पर पुनर्विचार करें और इन योजनाओं को तत्काल वापस प्रारंभ किया जाए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co