स्कूल-कॉलेज 31 अगस्त तक बंद, प्री प्राइमरी के लिए डिजिटल शिक्षा प्रारंभ
31 अगस्त तक स्कूल कॉलेज बंदSyed Dabeer-RE

स्कूल-कॉलेज 31 अगस्त तक बंद, प्री प्राइमरी के लिए डिजिटल शिक्षा प्रारंभ

भोपाल, मध्यप्रदेश : प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते कदमों को देखते हुए अब 31 अगस्त तक स्कूलों के खुलने पर लगा दी रोक।

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते कदमों को देखते हुए अब 31 अगस्त तक स्कूलों के खुलने पर रोक लगा दी है, बता दें कि मिली जानकारी के मुताबिक सभी सरकारी और निजी स्कूल 31 अगस्त तक बंद रखने के संबंध में आदेश जारी हो गया है। केंद्र सरकार की नई गाइड लाइन के बाद सरकार ने फैसला लिया है।

केंद्र सरकार की गाइडलाइन में स्कूल-कॉलेज बंद रखने के निर्देश :

बता दें कि केंद्र सरकार की अनलॉक के तीसरे चरण की गाइडलाइन में स्कूल और कॉलेज बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। बता दे कि इससे पहले 30 जुलाई तक बंद रखने के आदेश थे लेकिन कोरोना संकट को देखते हुए प्रदेश के उच्च शिक्षण संस्थानों, कॉलेज और यूनिवर्सिटी में शैक्षणिक कार्य पहले से ही बंद हैं।

प्री प्राइमरी के विद्यार्थियों के लिए डिजिटल शिक्षा प्रारंभ :

मध्यप्रदेश में प्री प्राइमरी के बच्चों की पढ़ाई भी अब ऑनलाइन शुरु होगी। कोरोना के बढ़ते मामले को देखते ही सरकार ने 31 अगस्त तक स्कूलों के खुलने पर पहले ही रोक लगा दी है। ऐसे में पढ़ाई को सुचारू रूप से चलाने के लिए अब स्कूलों में डिजिटल शिक्षा प्रारंभ की जाएगी।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा

प्रदेश में प्री प्राइमरी के विद्यार्थियों के लिए भी डिजिटल शिक्षा प्रारंभ होगी जो उन्हें प्रत्येक सप्ताह 3 दिन दी जाएगी तथा प्रतिदिन 30 मिनट का समय निर्धारित होगा और वही कोरोना संकटकाल में गांवों में टीवी के माध्यम से शैक्षणिक सामग्री पहुंचाने एवं शिक्षा देने की व्यवस्था की जाए। इससे विद्यार्थी अपने घर बैठे ही टीवी पर शैक्षणिक सामग्री प्राप्त कर सकेंगे।

प्रदेश में विशेष रूप से व्यवसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास को बढ़ावा दिया जाना है, जिससे कि बच्चा शुरू से ही अपने क्षेत्र में दक्षता हासिल कर ले तथा उसे भावी जीवन में एक अच्छी आजीविका प्राप्त हो सके।
मुख्यमंत्री शिवराज-

इस संबंध में आगे मुख्यमंत्री ने कहा है कि-

विद्यार्थियों को केवल किताबी ज्ञान न देकर उनका कौशल विकसित करने के लिए प्रदेश में कक्षा छठवीं से ही व्यवसायिक शिक्षा दिए जाने के प्रावधान को जल्दी से जल्दी लागू किया जायेगा।स्कूली पाठ्यक्रम में संगीत, दर्शन, कला, नृत्य के साथ ही योग का भी समावेश किया जाएगा, केंद्र द्वारा घोषित नई शिक्षा नीति देश में शिक्षा के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होगी। इसके क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश लीड ले। इसके सभी प्रावधानों पर राज्य की परिस्थितियों के अनुसार तत्परता के साथ अमल किया जाए।

मुख्यमंत्री शिवराज
मुख्यमंत्री शिवराजSocial Media

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co