भोपाल : अब तेजी से सामान्य होती जा रही है ऑक्सीजन की उपलब्धता
अब तेजी से सामान्य होती जा रही है ऑक्सीजन की उपलब्धताSocial Media

भोपाल : अब तेजी से सामान्य होती जा रही है ऑक्सीजन की उपलब्धता

भोपाल, मध्यप्रदेश : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि ऑक्सीजन की उपलब्धता की स्थिति अब तेजी से सामान्य होती जा रही है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि ऑक्सीजन की उपलब्धता की स्थिति अब तेजी से सामान्य होती जा रही है। श्री चौहान कोरोना संक्रमण नियंत्रण पर केंद्रित वीसी को निवास से संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी निवेदन किया गया है। प्रदेश में 8 अप्रैल को जहां 130 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उपलब्ध थी, वह अब बढ़कर आज 16 अप्रैल को 336 मीट्रिक टन हो गई है। यह 20 अप्रैल तक 445 मीट्रिक टन और 25 अप्रैल तक 565 मीट्रिक टन हो जाएगी। भिलाई, बोकारो, राउरकेला, जमशेदपुर आदि से ऑक्सीजन लाने के लिए पर्याप्त टैंकरों की व्यवस्था की जा रही है। जिन जिलों में मरीजों की संख्या अधिक है, वहां त्वरित रूप से ऑक्सीजन पहुंचाई जाएगी। वीसी में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान, अपर मुख्य सचिव परिहवन एस.एन. मिश्रा, पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी तथा अन्य अधिकारी सम्मिलित हुए।

प्रशासन अकादमी, हमीदिया, चिरायु और एम्स में बढ़ेंगे बिस्तर :

श्री चौहान ने कहा कि रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए 50 हजार इंजेक्शन के कार्यादेश जारी किए जा चुके हैं। सनफार्मा द्वारा 20 हजार, मायलोन कम्पनी द्वारा 3 हजार इंजेक्शन उपलब्ध कराए जा रहे हैं। सिपला, जायडस आदि से भी इंजेक्शन प्राप्त किए जाएंगे। इसके अतिरिक्त एक लाख इंजेक्शन की और व्यवस्था की जा रही है। सरकारी और निजी अस्पतालों में बिस्तरों की कुल संख्या बढ़कर 38 हजार 626 हो गई है। प्रशासन आकदमी में 150, हमीदिया अस्पताल में 300, चिरायु में 300 और एम्स में 500 बिस्तर की व्यवस्था की जा रही है।

होम आयसोलेशन वाले मरीजों से दिन में दो बार बात करें डॉक्टर :

मुख्यमंत्री ने कहा कि व्यापक टेस्टिंग व्यवस्था, 24 घंटे में टेस्ट रिपोर्ट देने, होम आयसोलेशन में रह रहे मरीजों का कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर से डॉक्टर द्वारा टेलिमेडिसिन के माध्यम से दिन में दो बार सुपरविजन सुनिश्चित करने और मरीजों को आवश्यक रूप से मेडिकल किट उपलब्ध कराया जा रहा है। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए इस व्यवस्था को और सुदृढ़ किया जा रहा है।

अस्पतालों और जिला स्तर पर नियुक्त होंगे नोडल अधिकारी :

श्री चौहान ने कहा कि सभी बड़े शासकीय और निजी अस्पतालों में बिस्तरों की व्यवस्था और जन-सामान्य को इसकी जानकारी उपलब्ध कराने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए जाएंगे। यह व्यवस्था सभी जिलों में भी लागू होगी। निजी अस्पतालों को अपने दूरभाष क्रमांक और उपलब्ध बिस्तरों की जानकारी प्रदर्शित करना आवश्यक होगा। उन्होंने कहा कि कोविड प्रभावित व्यक्तियों को इलाज के संबंध में आवश्यक मार्गदर्शन तथा अस्पतालों की जानकारी सरलता से मिले, इसके लिए आवश्यक व्यवस्था विकसित की जाएगी। जिला स्तर पर प्रभारी मंत्री इस व्यवस्था का समन्वय करेंगे।

कोविड केयर सेंटर के संबंध में जन-सामान्य से फीडबैक लिया जाएगा :

वीडियो कॉन्फ्रेंस में जानकारी दी गई कि प्रदेश में संचालित 720 फीवर क्लीनिक पर लगातार टेस्टिंग प्रक्रिया जारी है। आज 49 हजार 900 टेस्ट हुए। प्रदेश के सभी जिलों में कोविड केयर सेंटर का संचालन आरंभ हो गया है। इन सेंटरों में 5,328 बेड की व्यवस्था की जा चुकी है। कोविड केयर सेंटर के संचालन के संबंध में जन-सामान्य से निरंतर फीडबैक लेने की व्यवस्था की गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co