डेंगू मरीजों की संख्या ने तोड़ा पिछले 5 साल का रिकार्ड, आंकड़ा 1320 पर पहुंचा
डेंगू मरीजों की संख्या ने तोड़ा पिछले 5 साल का रिकार्डSyed Dabeer Hussain - RE

डेंगू मरीजों की संख्या ने तोड़ा पिछले 5 साल का रिकार्ड, आंकड़ा 1320 पर पहुंचा

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : डेंगू मरीजों की संख्या ने पिछले पांच साल का रिकार्ड तोड़ दिया है। डेंगू युवाओं की तुलना में बच्चों को ले रहा अधिक चपेट में। 66 निकले पॉजिटिव, शहर के 33 निकले संक्रमित।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। डेंगू का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। डेंगू मरीजों की संख्या ने पिछले पांच साल का रिकार्ड तोड़ दिया है। मंगलवार को जारी जांच रिपोर्ट में 66 मरीज संक्रमित पाए गए हैं, इन संक्रमितों में ग्वालियर जिले 59 मरीज ग्वालियर जिले के हैं बाकी के मरीज आसपास के जिलों के हैं। स्वास्थ्य विभाग की इस रिपोर्ट के बाद ग्वालियर जिले में डेंगू के संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 1320 पर पहुंच गया है। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट की बात की जाए तो इसमें जो संक्रमित पाए गए हैं उनमें 60 फीसदी बच्चे संक्रमित निकल रहे हैं इस बार युवा व बुजुर्गों की तुलना में बच्चे अधिक पॉजिटिव हो रहे हैं। अभी तक चार मरीजों की इससे मौत भी हो चुकी है।

दूसरी ओर स्वास्थ्य विभाग डेंगू के प्रकोप पर लगाम लगाने में नाकाम साबित हो चुका स्वास्थ्य विभाग अब जनता से अपील कर रहा है। विभाग का कहना है कि इस बीमारी की रोकथाम हम सब मिलकर कर सकते हैं। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने ग्वालियर शहर सहित सम्पूर्ण जिले के नागरिकों से इस पुनीत काम में सहयोग करने की अपील की है। डेंगू बीमारी एडीज मच्छर के काटने से फैलती है। अत: हम सभी को मिलकर मच्छरों को पनपने से रोकना है। हफ्ते में एक बार घर के बर्तनों की पानी की निकासी कर डेंगू से बचा जा सकता है। स्वास्थ्य विभाग ने सलाह दी है कि बुखार आने पर नजदीक के सरकारी अस्पताल व स्वास्थ्य केन्द्र में जाकर जांच कराएँ। साथ ही चिकित्सक की सलाह के अनुसार ही दवा लें। सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें, फुल आस्तीन के कपड़े पहनें। साथ ही मच्छर रोधी अगरबत्ती व मोस्कीटो इलेक्ट्रिक किट का उपयोग भी किया जा सकता है।

दस वार्डों में विभाग बढ़ाएगा टीम :

मलेरिया विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जिन वार्डों में डेंगू के केस अधिक निकल रहे हैं वहां पर टीम की संख्या बढ़ाई जाएगी। प्रभारी जिला मलेरिया अधिकारी का कहना है कि जिन वार्डों में संक्रमित की संख्या दहाई के अंक पर पहुंच चुकी है वहां पर भी एक मलेरिया विभाग, आशा कार्यकर्ता, एक एनएनएम के साथ ही एक प्रभारी डॉक्टरय के साथ ही निगम के दो कर्मचारी रहेगी इनमें एक कर्मचारी फॉगिंग एवं एक जुर्माने की कार्रवाई करेंगी।

डेंगू मलेरिया के पिछले कुछ वर्षों की स्थिति :

  • वर्ष 2015 में मलेरिया के 3443 और डेंगू के 466 केसेस

  • वर्ष 2016 में मलेरिया के 2500 और डेंगू के 707 केसेस

  • वर्ष 2017 में मलेरिया के 1393 और डेंगू के 465 केसेस

  • वर्ष 2018 में मलेरिया के 421 और डेंगू के 1202 केसेस

  • वर्ष 2019 में मलेरिया के 169 और डेंगू के 370 केसेस

  • वर्ष 2020 में मलेरिया के 49 और डेंगू के 16 केसेस

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co