गुलजार रहने वाला पेंच पार्क हुआ वीरान
गुलजार रहने वाला पेंच पार्क हुआ वीरान|Social Media
मध्य प्रदेश

सिवनी: गुलजार रहने वाला पेंच पार्क हुआ वीरान

सिवनी, मध्यप्रदेश: कोरोना वायरस का सबसे बुरा असर पर्यटन क्षेत्र पर पड़ा है। कोरोना के असर के चलते सैलानियों की संख्या में गिरावट, महज 15 फीसदी पर्यटक ही पहुंच रहे हैं।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

सिवनी, मध्यप्रदेश। कोरोना वायरस का सबसे बुरा असर पर्यटन क्षेत्र पर पड़ा है। जहां, होटलों की आय पूरी तरह ठप्प हो गई है, वहीं पार्कों और पर्यटन स्थलों पर पर्यटक गायब हैं। कोविड-19 का असर जिले के पेंच नेशनल पार्क पर भी पड़ा है, पार्क खुल तो गया लेकिन यहां वीरानी सी छायी हुई है, हमेशा देशी- विदेशी पर्यटकों से गुलजार रहने वाला पेंच नेशनल पार्क में अब सैलानियों की संख्या एकाएक घट गई है। कोरोना वायरस के डर के चलते पार्क में पर्यटक नहीं पहुंच रहे हैं। वर्तमान में यहां महज 15 फीसदी पर्यटक ही पहुंच रहे हैं। इनमें भी सिर्फ देशी पर्यटक ही शामिल हैं, विदेशी पर्यटक नहीं पहुंच रहे हैं। पार्क पहुंचने वाले पर्यटकों की सुरक्षा के लिए पेंच पार्क प्रबंधन ने पूरी तैयारी कर रखी है।

वीकेंड पर कुछ चहल-पहल :

जानकारी के अनुसार वीकेंड पर पार्क में अन्य दिनों के मुकाबले कुछ 'यादा चहल-पहल रहती है। बीते रविवार को यहां सुबह के वक्त 20, जबकि शाम को 15 जिप्सी गाड़ियां बुक हुईं। शनिवार को भी यहां पहुंचने वाले पर्यटकों की संख्या ज्यादा होती है। बीते सीजन की बात करें तो यहां प्रतिदिन 40-50 जिप्सी गाड़ियां पर्यटकों को पार्क की सैर कराती थीं। इस लिहाज से वर्तमान में यहां सैलानियों की संख्या महज 15 फीसदी में ही सिमट गई है।

आय पर पड़ रहा असर :

पर्यटकों की कमी के चलते सीधा असर पेंच नेशनल पार्क को होनी वाली आय पर पड़ रहा है। वहीं पार्क के कोर एरिया में मौजूद होटल्स और रिसोर्ट को भी बेहद नुकसान उठाना पड़ रहा है। हालात यहां तक पहुंच गए हैं कि होटल्स के स्टॉफ की सैलरी तक नहीं निकल पा रही है। हालांकि, होटल संचालकों को उम्मीद है कि धीरे-धीरे स्थिति में सुधार होगा। वहीं पार्क में आने वाले सैलानियों से जुड़े कारोबार करने वाले लोगों की आय भी कम हो गई है।

मार्ग बंद होने का भी असर :

पेंच पार्क के फील्ड डायरेक्टर विक्रम परिहार का तर्क यह भी है कि कोरोना के साथ-साथ फोरलेन मार्ग निर्माण के चलते नागपुर-सिवनी हाईवे मार्ग बंद होने का भी कुछ असर पड़ रहा है। चूंकि, यहां फोरलेन मार्ग का निर्माण कार्य प्रगति पर है, ऐसे में यह मार्ग दो महीने के लिए बंद कर दिया गया है। मार्ग बंद होने के कारण महाराष्ट्र होकर आने वाले सैलानियों को परेशानी हो रही है, जिस कारण वह नहीं आ पा रहे हैं। आपको बता दें कि पेंच नेशनल पार्क में वन्य जीवों की खूबसूरती और यहां का नैसर्गिक सौंदर्य पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। यही वजह है कि यहां हर साल बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं, लेकिन कोरोना वायरस के चलते वर्तमान में पर्यटकों की संख्या में गिरावट हुई है।

इनका कहना है :

कोविड-19 के असर के चलते पार्क में पर्यटकों की संख्या में गिरावट हुई है। वर्तमान में नागपुर-सिवनी मार्ग भी बंद है, इसका भी कुछ असर है। स्थिति में सुधार हो रहा है, उम्मीद है धीरे-धीरे पर्यटकों की संख्या बढ़ेगी।

विक्रम परिहार, फील्ड डायरेक्टर, पेंच नेशनल पार्क सिवनी

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co