12 सूत्रीय मांगों को लेकर नर्सेस एसोसिएशन संघ चार दिनों से हड़ताल
12 सूत्रीय मांगों को लेकर नर्सेस एसोसिएशन संघ चार दिनों से हड़तालPrem N Gupta

12 सूत्रीय मांगों को लेकर नर्सेस एसोसिएशन संघ चार दिनों से हड़ताल

सिंगरौली, मध्यप्रदेश : नर्सो के हड़ताल का असर, ट्रामा सेंटर में ऑपरेशन बंद। प्रसव पीड़ित महिलाओं को नेहरू व एनटीपीसी अस्पताल में किया जा रहा रेफर।

सिंगरौली, मध्यप्रदेश। नर्सो के हड़ताल से जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर समेत प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों की व्यवस्थाएं अस्त-व्यस्त हो गयी हैं। ट्रामा सेंटर में प्रसव पीडि़त महिलाओं का ऑपरेशन भी चार दिनों से बंद है। ऐसे पीड़ित महिलाओं को नेहरू चिकित्सालय जयंत व एनटीपीसी रिफर कर दिया जा रहा है। वहीं अधिकांश प्रसव पीड़ित व अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीज बैढ़न के स्थानीय नर्सिंग होम में उपचार हेतु शरण लेने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।

दरअसल 12 सूत्रीय मांगों को लेकर नर्सेस एसोसिएशन संघ चार दिनों से बेमियादी हड़ताल पर हैं। नर्सों के हड़ताल का असर व्यापक पैमाने पर दिख रहा है। आलम यह है कि जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर में स्थिति धीरे-धीरे बिगड़ती जा रही है। यहां गंभीर रूप से पीडि़त मरीजों को नेहरू चिकित्सालय जयंत व एनटीपीसी विन्ध्यनगर रेफर कर दिया जा रहा है तो वहीं 80 फीसदी मरीज स्थानीय बैढ़न इलाके के नर्सिंग होम में ईलाज कराने के लिए मजबूर हो रहे हैं। इन दिनों बैढ़न के कुछ नर्सिंग होम के अच्छे दिन कोरोना काल के बाद फिर से लौट आये हैं। पहले यहां कोरोना पीड़ित मरीजों को नेहरू चिकित्सालय से रेफर कर दिया जा रहा था। इधर स्टाफ नर्स जिलाध्यक्ष दुर्गा पाठक का दावा है कि हड़ताल से ओपीडी की व्यवस्था अस्त-व्यस्त एवं पस्त हो गयी हैं। गर्भवती महिलाओं की मुश्किलें काफी बढ़ गयी हैं। हड़ताल का असर जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर के साथ-साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र देवसर, चितरंगी, सरई व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में शत-प्रतिशत है।

आगे बताया कि सोमवार को कलेक्टर भी ट्रामा सेंटर पहुंचे थे, लेकिन हड़ताल पर बैठे नर्सो को नजरअंदाज कर दिया। जिससे स्टाफ नर्सों को काफी तकलीफ हुई है। उन्होंने यह भी बताया कि हम लोगों के हड़ताल का उच्च न्यायालय ने भी जायज ठहराया है। प्रदेश सरकार का दावा है कि हड़ताल से 20 से 30 प्रतिशत असर है। जबकि हड़ताल से 100 फीसदी असर है। हड़ताल में शामिल स्टाफ नर्सो की रोजाना उपस्थिति रजिस्टर न्यायालय में भेजा जायेगा। आज के हड़ताल में एक सैकड़ा से अधिक स्टाफ नर्स उपस्थित होकर प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co