पोषण आहार में लगने वाली सामग्री स्व-सहायता समूहों से ली जाए -आशीष सक्सेना
पोषण आहार में लगने वाली सामग्री स्व-सहायता समूहों से ली जाए -आशीष सक्सेनाSocial Media

पोषण आहार में लगने वाली सामग्री स्व-सहायता समूहों से ली जाए -आशीष सक्सेना

ग्वालियर संभागायुक्त आशीष सक्सेना ने कहा कि महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आंगनबाड़ी केन्द्रों में वितरित किए जा रहे पोषण आहार में लगने वाली खाद्य सामग्री महिला स्व-सहायता समूह के माध्यम से ली जाए।

राजएक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के ग्वालियर संभागायुक्त आशीष सक्सेना ने कहा है कि महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आंगनबाड़ी केन्द्रों में वितरित किए जा रहे पोषण आहार में लगने वाली खाद्य सामग्री महिला स्व-सहायता समूह के माध्यम से ली जाए।संभागायुक्त श्री सक्सेना ने अंतरविभागीय समन्वय समिति की बैठक में कहा कि पोषण आहार में लगने वाली खाद्य सामग्री महिला स्व-सहायता समूह के माध्यम से लेने से महिलाओं को उनके द्वारा तैयार किए गए उत्पाद के लिये बाजार भी मिलेगा और वह आत्मनिर्भर भी बनेंगीं। स्व-सहायता समूहों द्वारा खाद्य सामग्रियों को तैयार करने का उपक्रम किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि संभाग में नवीन खाद्यान्न पर्ची वितरण का कार्य संतोषजनक नहीं है। इस पर विशेष ध्यान दिया जाए। हितग्राहियों को उचित मूल्य की दुकानों से खाद्यान्न समय पर मिले। किसानों को उपार्जन के बाद भुगतान शीघ्र किया जाए। सभी जिलों में उपार्जन हेतु प्लेटफार्म बनाने का कार्य भी तत्परता से किया जाए। इसके साथ ही उपार्जन के लिए किसानों के पंजीयन का कार्य भी तेजी के साथ किया जाए। संभागायुक्त ने कहा कि रेत के अवैध उत्खनन, परिवहन एवं भण्डारण पर कड़ी कार्रवाई की जाए। सभी जिलों में स्थापित किए गए नाकों पर चैकिंग सख्त की जाए। कोई भी वाहन बिना रॉयल्टी के रेत का परिवहन नहीं कर सके और बिना रॉयल्टी के पकड़े जाने पर संबंधित के खिलाफ सख्त कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

उन्होंने कहा कि संभाग के सभी जिलों में वैक्सीनेशन का कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ किया जाए। द्वितीय चरण के वैक्सीनेशन की तैयारी भी समय रहते कर ली जाए। कोविड-19 की वैक्सीन तभी लगाई जाए जब निर्धारित संख्या में लोग वैक्सीन लगवाने के लिए केन्द्र पर उपस्थित हों। किसी भी स्थिति में वैक्सीन का अपव्यय नहीं होना चाहिए।

बैठक में उन्होंने स्पष्ट किया है कि एंटी माफिया अभियान हो या खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वालों के विरूद्ध कार्रवाई की जाए और दोनों में ही दोषियों के विरूद्ध पुलिस प्रकरण भी कायम किए जाएं। बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए संभाग के प्रत्येक जिलों में रोजगार मेलों का आयोजन किया जाए। इन मेलों में अधिक से अधिक लोगों को रोजगार मिले यह भी सुनिश्चित किया जाए। मेलों में रोजगार उपलब्ध कराने के लिए अच्छी और अधिक संख्या में कंपनियां आएँ, इसके लिये जिला कलेक्टर विशेष प्रयास करें।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co