नेमावर हत्याकांड को लेकर न्याय यात्रा, पुलिस और कांग्रेसियों में हुई धक्का-मुक्की
नेमावर हत्याकांड को लेकर न्याय यात्राSocial Media

नेमावर हत्याकांड को लेकर न्याय यात्रा, पुलिस और कांग्रेसियों में हुई धक्का-मुक्की

भोपाल, मध्यप्रदेश। नेमावर हत्याकांड के मामले में परिवार की सदस्य की न्याय यात्रा के पक्ष में कांग्रेस ने प्रदर्शन किया। इस बीच पुलिस और कांग्रेसियों में धक्का-मुक्की हो गई।

भोपाल, मध्यप्रदेश। नेमावर से 1 जनवरी से शुरू हुई न्याय यात्रा आज भोपाल पहुंची, आज देवास के नेमावर में आदिवासी परिवार के पांच सदस्यों की हत्या के मामले में परिवार की सदस्य की न्याय यात्रा के पक्ष में कांग्रेस ने प्रदर्शन किया। इस बीच पुलिस और कांग्रेसियों में धक्का-मुक्की हो गई, PCC के बाहर पुलिस ने कांग्रेसियों को बेरिकेड्स लगाकर रोक लिया।

परिवार की सदस्य भारती ने निकाली न्याय यात्रा :

मिली जानकारी के मुताबिक आज परिवार की सदस्य भारती ने न्याय यात्रा निकाली है, भारती कारडे के साथ कांग्रेस नेता राज्यपाल से मिलकर उन्हें आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग करने का ज्ञापन देने के लिए प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में जुटे थे। यहां से जैसे ही वे रेडक्रास चौराहे तक पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया वहां पुलिस और कांग्रेसियों में हुई धक्का-मुक्की के बाद भारती सहित कांग्रेस नेताओं के प्रतिनिधिमंडल को राज्यपाल से मिलने दिया। भारती कारडे ने बताया- उनके परिवार के पांच सदस्यों की हत्या कर दी गई। इस मामले में पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। जब तक हमारे परिवार को न्याय नहीं मिल जाता, तब तक मेरा यह संघर्ष जारी रहेगा।

प्रदेश में आदिवासियों के साथ अत्याचार हो रहे हैं लेकिन उनकी कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही है, हमारी न्याय यात्रा को रोकने के भी सरकार द्वारा प्रयास किए गए।

भारती कारडे

कमलनाथ "न्याय यात्रा" में शामिल हुए एवं लोगों से मुलाक़ात की

मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ आज भोपाल में नेमावर हत्याकांड को लेकर निकाली जा रही "न्याय यात्रा" में शामिल हुए एवं लोगों से मुलाक़ात की। कमलनाथ ने कहा कि भारती न्याय की मांग को लेकर पदयात्रा कर रही है। सरकार ने आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं की। ऐसी घटनाएं मध्य प्रदेश को बदनाम करती हैं।

कांग्रेस नेताओं को राजभवन जाने से रोकने पर एमपी कांग्रेस ने कहा

वहीं, कांग्रेस नेताओं को राजभवन जाने से रोकने पर एमपी कांग्रेस ने कहा- शिवराज का आदिवासी विरोधी चेहरा बेनक़ाब, नेमावर हत्याकांड को लेकर निकाली जा रही न्याय यात्रा को बैरिकेडिंग कर रोका गया। शिवराज जी, अब न्याय होकर रहेगा, ये अन्याय के पतन की शुरुआत है। "आदिवासी विरोधी शिवराज"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co