ग्वालियर : तानसेन समारोह की अफसरों को नहीं है सुध

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : आयोजन होगा या नहीं अभी तक नहीं हो सका निर्णय। अकादमी का कहना स्थानीय प्रशासन करेगा निर्णय, कमिश्नर बोले मुझे नहीं पता।
ग्वालियर : तानसेन समारोह की अफसरों को नहीं है सुध
तानसेन समारोह की अफसरों को नहीं है सुधSocial Media

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। सुरसम्राट तानसेन की स्मृति मेें हजीरा स्थित उनकी समाधि पर आयोजित होने वाला शास्त्रीय संगीत का देश का सबसे प्रतिष्ठित तानसेन समारोह की जिम्मेदार अफसरों को कोई सुध नहीं है। विचित्र विडम्बना है कि समारोह की स्थानीय समिति के पदेन अध्यक्ष रहने वाले संभागीय कमिश्नर आशीष सक्सेना को तो आयोजन के संबध में किसी तरह की जानकारी नहीं है। कमोबेश कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह की भी यही स्थिति है। कार्यक्रम की आयोजक उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत अकादमी ने भी स्थानीय स्तर पर अफसरों से इस संबध में कोई संवाद नहीं किया है।

मध्यप्रदेश में हाल ही संपन्न हुए विधानसभा उपचुनाव एवं कोविड-19 का साया इस बार तानसेन समारोह पर भी मंडरा रहा है। उपचुनाव के बाद शासन का फोकस मंत्रीमंडल विस्तार पर लगा है। इस वजह से फिलहाल अन्य चीजों पर शासन का ध्यान नहीं हैं। बेवसाइट पर तानसेन समारोह की तिथि 19 दिसम्बर से 24 दिसम्बर शो हो रही है, लेकिन इस बार समारोह होगा अथवा नहीं इस पर संस्कृति विभाग अब तक कोई फैसला नहीं ले सका है। उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत अकादमी के अफसरों का कहना है कि कोरोना की वजह से स्थानीय प्रशासन की रिपोर्ट के आधार पर ही तय होगा कि आयोजन होगा अथवा नहीं, लेकिन हैरानी की बात यह है कि विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों ने अब तक स्थानीय प्रशासन से इस संबध में कोई राय तक नहीं मांगी है।

समिति मेें रहने वाले संगीत प्रेमी भी चुप :

दिलचस्प बात यह है कि स्थानीय समिति मेें जो लोग वर्षों से अंगद की तरह पैर जमाए हैं, वे भी मुंह में गुड़ खाए बैठे हैं और अब तक आयोजन को लेकर उन्होंने पदेन अध्यक्ष रहने वाले कमिश्नर अथवा विभाग के अन्य जिम्मेदार अफसरों से इस संबध में जानकारी लेने की कोशिश की है। कोविड में जब विधानसभा चुनाव जैसा बड़ा आयोजन निर्विघ्न संपन्न हो गया तो क्या तानसेन समारोह सोशल डिस्टेसिंग और कोविड नियमों के मुताबिक नहीं हो सकता, लेकिन अब तक दिखाई दे रहे अफसरों के रुख से ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि शायद इस बार आयोजन में विभाग की रुचि नहीं है। वैसे तो स्थानीय समिति के सदस्य हर बार वही रहते हैं, लेकिन शासन की ओर से हर बार स्थानीय समिति की औपचारिक घोषणा की जाती है, जो अभी तक नहीं हुई है,ऐसे में आयोजन को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है।

किसने क्या कहा :

मुझे आयोजन के विषय में कोई जानकारी नहीं हैं। मुझे यह भी नहीं पता कि आयोजन की स्थानीय समिति का अध्यक्ष संभागीय कमिश्नर होता है और उसी की अध्यक्षता में आयोजन समिति की स्थानीय समिति की बैठक होती है। मुझे इस संबध में कोई जानकारी प्राप्त नहीं हुई है।

आशीष सक्सेना, संभागीय आयुक्त

फिलहाल मुझे इस संबध में कोई जानकारी नहीं हैं। मैं पता करता हूं। उसी के बाद कुछ कह सकूंगा।

कौशलेंद्र विक्रम सिंह, कलेक्टर

शासन की ओर से अभी स्थानीय समिति का गठन नहीं हुआ है। स्थानीय परिस्थितयों का अवलोकन कर उसी को आयोजन को लेकर निर्णय करना है। संभवत: अगले 3-4 दिन में स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

राहुल रस्तौगी, निदेशक, उस्ताद अलाउ्दीन खां संगीत अकादमी, भोपाल

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co