अधिकारी पंचायतों में पहुंच कर समस्याओं का करें निराकरण : शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, मध्यप्रदेश : मुख्यमंत्री मौसम खराब होने से शिविर में नहीं पहुंच सके थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज वे शिविर में नहीं आ सके हैं। इसके लिये वे जनता से क्षमा मांग रहे हैं।
मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान शिविर को मोबाइल फोन से संबोधित किया
मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान शिविर को मोबाइल फोन से संबोधित कियाRaj Express

भोपाल, मध्यप्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान का एक ही उद्देश्य है कि आम जनता को अपनी समस्याओं के निराकरण के लिये दफ्तरों के चक्कर न लगाना पड़ें। अधिकारी पंचायतों में पहुंच कर पात्र व्यक्तियों को योजनाओं का लाभ पहुंचायें और समस्याओं का निराकरण करें।

श्री चौहान ने बालाघाट जिले के ग्राम केंदाटोला के मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान शिविर में जन-समुदाय को मोबाइल फोन से संबोधित किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान के शिविरों में पंचायत स्तर पर आवेदन प्राप्त किये जा रहे हैं और उनका वहीं निराकरण किया जा रहा है। आवेदनों को संबंधित विभाग में भेज कर पात्रता के अनुसार योजना का लाभ दिया जा रहा है।

मुख्यमंत्री मौसम खराब होने से शिविर में नहीं पहुंच सके थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज वे शिविर में नहीं आ सके हैं। इसके लिये वे जनता से क्षमा मांग रहे हैं। वे इस अभियान में बालाघाट जिले में लगने वाले दूसरे शिविर में आने का प्रयास करेंगे। आज उनके प्रतिनिधि के रूप में आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रामकिशोर नानो कावरे पात्र व्यक्तियों को हित-लाभ वितरित करेंगे।

आयुष राज्य मंत्री श्री कावरे ने कहा कि आम जनता की समस्याओं का त्वरित निराकरण करने के लिये मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान 31 अक्टूबर तक चलेगा। अभियान में आवेदनों का पात्रता के अनुसार निराकरण किया जायेगा। उन्होंने कहा कि वे इस अभियान में 2 गाँव में लगाये गये शिविर में गये थे। पंचायत स्तर पर शिविर लगाये जा रहे हैं। अधिकारी और ग्राम पंचायत के सचिव की जिम्मेदारी है कि ग्रामीणों को योजनाओं की जानकारी देने के साथ ही उन्हें योजनाओं का लाभ देना सुनिश्चित करें। शासकीय अमला जिम्मेदारी के साथ काम कर इस अभियान को सफल बनाने में योगदान दे।

श्री कावरे ने मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान में विभिन्न योजनाओं के पात्र व्यक्तियों को हित-लाभ वितरित किये। उन्होंने लाड़ली लक्ष्मी योजना की बालिकाओं का सम्मान किया और प्रमाण-पत्र प्रदान किये। उद्यानिकी विभाग की काजू फलोद्यान योजना के 2 हितग्राही को काजू के पौधे वितरित किये। प्राकृतिक आपदा से मृत्यु पर परिजन को 4 लाख रूपये की राशि प्रदान की। हायर सेकेण्डरी स्कूल कचनारी की 5 बालिका को साइकिलें दीं। मत्स्योद्योग विभाग की योजना में 114 मत्स्य-पालक को किसान क्रेडिट-कार्ड प्रदान किये।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co