कलेक्टर के निर्देश पर भोरी गांव में शासकीय भूमि को अतिक्रमण से कराया मुक्त

भोपाल, मध्यप्रदेश। कोरोना संकटकाल के बीच भोरी गांव में एक बीघा शासकीय भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराया गया है।
कलेक्टर के निर्देश पर भोरी गांव में शासकीय भूमि को अतिक्रमण से कराया मुक्त
शासकीय भूमि को अतिक्रमण मुक्त करायाRaj Express

भोपाल, मध्यप्रदेश। इतने दिन बीतने के बाद भी जहां प्रदेश में कोरोना वायरस को लेकर अब तक कोई राहत की खबर नहीं आई है वहीं इसके मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। इसी बीच लगातार सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जे करने वालों के खिलाफ चल रही कार्रवाई। मिली जानकारी के मुताबिक बता दें कि भोरी गांव में एक बीघा शासकीय भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराया गया है।

एक बीघा शासकीय भूमि मुक्त कराई :

जानकारी के मुताबिक बता दें कि मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया के निर्देश पर भोरी गाव में आयशर के सामने स्थित एक बीघा शासकीय भूमि अतिक्रमण से मुक्त कराई। वहीं इसके साथ ही 5 हजार वर्ग फीट में निर्माणाधीन दो मंजिला मकान को एसडीएम हुजूर क्षितिज शर्मा के नेतृत्व में तोड़ा गया है।

पटवारी को तत्काल प्रभाव से किया निलंबित :

आगे बताते चलें, कि कोरोना संकटकाल के बीच तेजी से भूमि पर अतिक्रमण की खबरें बढ़ रही हैं। इस बीच भोरी गांव में एक बीघा शासकीय भूमि पर अतिक्रमण की सही जानकारी नहीं देने और कार्रवाई नहीं करने पर तत्काल प्रभाव से पटवारी सुश्री ममता झामोरिया को निलंबित कर दिया गया है।

एसडीएम क्षितिज शर्मा ने बताया-

इस सम्बन्ध में शिकायत प्राप्त हुई थी कि शासकीय भूमि पर अतिक्रमण कर बिल्डिंग का निर्माण किया जा रहा है। मौके पर जाकर जांच के उपरांत पाया गया कि उक्त भूमि शासकीय है और लगभग एक बीघा भूमि पर बाउंड्री वाल कर 5 हजार वर्ग फीट में दो मंजिला भवन का निर्माण किया जा रहा है। जांच करने के बाद उक्त भूमि शासकीय रिकार्ड में अंकित है और अवैधानिक रूप से शासकीय भूमि पर कब्जा कर निर्माण किया गया है।

कलेक्टर अविनाश लावनिया के निर्देश पर कार्रवाई करते हुए उक्त भवन को जेसीबी से तोड़ा गया और शासकीय भूमि के बारे में सही जानकारी नहीं देने पर स्थानीय पटवारी को तत्काल प्रभाव से निलबित कर दिया है। इसके साथ ही 5 हजार वर्ग फीट में निर्माणाधीन दो मंजिला मकान को एसडीएम हुजूर क्षितिज शर्मा के नेतृत्व में तोड़ा गया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co