World Animal Day पर सीएम शिवराज ने कहा- 'जीवों पर दया और प्रेम ही भारतीय संस्कृति है'
World Animal DayPriyanka Yadav-RE

World Animal Day पर सीएम शिवराज ने कहा- 'जीवों पर दया और प्रेम ही भारतीय संस्कृति है'

भोपाल, मध्य प्रदेश। हर साल 4 अक्टूबर को विश्व पशु दिवस (World Animal Day) मनाया जाता है, इस अवसर पर मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कही ये बात...

भोपाल, मध्य प्रदेश। आज विश्व पशु दिवस है। हर साल 4 अक्टूबर को विश्व पशु दिवस (World Animal Day) मनाया जाता है, विश्व पशु दिवस का उद्देश्य पशु कल्याण मानकों में सुधार करना और व्यक्तियों तथा संगठनों का समर्थन प्राप्त करना है, इस दिवस का मूल उद्देश्य विलुप्त हुए प्राणियों की रक्षा करना और मानव से उनके संबंधो को मजबूत करना है। इस अवसर पर मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कही ये बात।

सीएम शिवराज ने किया ट्वीट-

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा- जीवों पर दया और प्रेम ही भारतीय संस्कृति है! इस धरती पर मनुष्य के अलावा जल, पेड़-पौधे और पशु-पक्षी भी होंगे, तभी धरती जीने योग्य होगी तथा जीवन सुचारू एवं सुखद होगा। आइये World Animal Day पर पशु-पक्षियों के प्रति वात्सल्य, प्रेम के प्रदर्शन के साथ संवेदनशील होने का संकल्प लें।

माना जाता है कि पहली बार विश्व पशु दिवस (World Animal Day) का आयोजन हेनरिक जिमरमन ने 24 मार्च, 1925 को जर्मनी के बर्लिन में स्थित स्पोर्ट्स पैलेस में किया था, लेकिन साल 1929 से यह दिवस 4 अक्टूबर को मनाया जाने लगा, शुरू में इस आंदोलन को जर्मनी में मनाया गया, जर्मनी के अलावा यह धीरे धीरे स्विट्जरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, चेकोस्लोवाकिया व भारत जैसे कई देशों में मनाया जाने लगा, इस तरह आज ये दिन पूरी दुनिया में मनाया जाता है।

विश्व पशु दिवस को दुनिया भर में राष्ट्रीयता, विश्वास, धर्म और राजनीतिक विचारधारा के विभिन्न तरीकों से मनाया जाता है, विश्व पशु दिवस व्यक्तियों, समूहों और संगठनों के समर्थन और भागीदारी के माध्यम से दुनिया भर में पशु कल्याण मानकों में सुधार करने के उद्देश्य के साथ मनाया जाता। विश्व पशु कल्याण दिवस पर जानवरों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए विभिन्न प्रकार के समारोहों का आयोजन किया जाता हैं। इस दिन को मनाने का उद्देश्‍य पशु कल्‍याण मानकों में सुधार करना, विलुप्त हो रहे प्राणियों की रक्षा करना।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.