वायु, रेल और सड़क मार्ग से की जा रही है ऑक्सीजन की आपूर्ति : डॉ. मिश्रा
वायु, रेल और सड़क मार्ग से की जा रही है ऑक्सीजन की आपूर्ति : डॉ. मिश्राSocial Media

वायु, रेल और सड़क मार्ग से की जा रही है ऑक्सीजन की आपूर्ति : डॉ. मिश्रा

भोपाल, मध्यप्रदेश : गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया है कि सरकार के अथक प्रयासों से संक्रमण की दर में कमी आनी शुरू हो गई है। प्रदेश में 533 मीट्रिक टन ऑक्सीजन प्राप्त होने की संभावना है।

हाइलाइट्स :

  • आठ जिलों में संक्रमण दर घटी और 36 जिलों में लगभग स्थिर

  • रिकवरी रेट 85 प्रतिशत तक पहुंचा

भोपाल, मध्यप्रदेश। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया है कि सरकार के अथक प्रयासों से संक्रमण की दर में कमी आनी शुरू हो गई है। प्रदेश के आठ जिलों में संक्रमण की दर में कमी दर्ज की गई है, वहीं 36 जिले ऐसे हैं, जिनमें संक्रमण की दर स्थिर होने की स्थिति में आ गई है। डॉ. मिश्रा ने बताया है कि ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों के सकारात्मक परिणाम आने लगे हैं। सरकार ऑक्सीजन की आपूर्ति वायुमार्ग, रेलमार्ग और सड़क मार्ग से भारत सरकार की मदद से कर रही है। ऑक्सीजन उत्पादन के लिए स्वीकृत आठ प्लांटों में से सात प्लांट पूर्ण हो गए हैं, जिसमें से छह में उत्पादन भी प्रारंभ हो गया है। उल्लेखनीय है कि रिकवरी की दर भी लगभग 85 प्रतिशत तक पहुँच गई है।

डॉ. मिश्रा ने बताया कि मध्यप्रदेश को त्वरित ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए पहली ऑक्सीजन ट्रेन बुधवार 28 अप्रैल की सुबह पहुंचेगी। इस ट्रेन में छह टैंकरों द्वारा 63.78 मीट्रिक टन ऑक्सीजन भोपाल पहुंचेगी। चार टैंकर ओडि़शा से पहुंच रहे हैं, जिसमें 23 मीट्रिक टन ऑक्सीजन आएगी। प्रदेश में 533 मीट्रिक टन ऑक्सीजन प्राप्त होने की संभावना है। ऑक्सीजन की आपूर्ति का यह सिलसिला आगामी एक मई तक लगातार जारी रहेगा। डॉ. मिश्रा ने बताया कि 2,000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भी राज्य सरकार द्वारा खरीद लिए गए हैं। इसके अतिरिक्त 34 जिलों में स्थानीय व्यवस्था कर एक हजार से अधिक ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपयोग में लाए जा रहे हैं।

58 नए ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट स्वीकृत :

डॉ. मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में 58 नए स्थानीय स्तर पर ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट स्वीकृत किए गए हैं। भारत सरकार द्वारा स्वीकृत आठ, मुख्यमंत्री राहत कोष से पांच, राज्य सरकार द्वारा 45 स्थानीय स्तर पर ऑक्सीजन उत्पादन प्लांटस स्थापना कार्य प्रगति पर हैं। स्वीकृत प्लांट्स में से भारत सरकार के सात प्लांट पूर्ण हो गए हैं, छह में उत्पादन प्रारंभ हो गया है। राज्य सरकार द्वारा स्वीकृत प्लांटों में से 22 प्लांट मई माह के द्वितीय पखवाड़े में पूर्ण होकर क्रियाशील हो जाएंगे। जुलाई माह के द्वितीय सप्ताह में 15 ऑक्सीजन प्लांट क्रियाशील हो जाएंगे।

प्रदेश में नई ऑक्सजीन लाइन बिछाने का काम तीव्र गति से जारी :

डॉ. मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में नई ऑक्सीजन लाइन बिछाने का कार्य तीव्र गति से किया जा रहा है। प्रथम चरण में 42 जिलों के जिला चिकित्सालयों में 2,302 बिस्तरों के लिए ऑक्सीजन पाइप-लाइन बिछाने और द्वितीय चरण में 51 जिलों की सीएचसी के 4,643 बिस्तरों के लिए लाइन बिछाने का कार्य किया जा रहा है। डॉ. मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में स्वास्थ्य कर्मचारियों, फ्रंट लाइन वर्कर और 45 से अधिक उम्र के 69 लाख 94 हजार 944 व्यक्तियों को वैक्सीनेशन की प्रथम डोज लग गई है। दस लाख 999 व्यक्तियों को टीके की दूसरी डोज भी लग गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co