पन्ना : जिले में पहले वृहद सीमेंट प्रोजेक्ट के लिए हुआ 50 साल का लीज अनुबंध

पन्ना, मध्य प्रदेश : 36 करोड़ की रॉयल्टी जमाकर कराया गया करार। लाईम स्टोन उत्खनन हेतु 1600 हेक्टयर में मिली उत्खनन की स्वीकृति। जिले में कई और कम्पनियां लगा सकती हैं उद्योग।
पन्ना : जिले में पहले वृहद सीमेंट प्रोजेक्ट के लिए हुआ 50 साल का लीज अनुबंध
जिले मे पहले बृहद सीमेंट प्रोजेक्ट के लिए हुआ 50 साल का लीज अनुबंधAnil Tiwari

पन्ना, मध्य प्रदेश। पन्ना में औद्योगिक विकास की बात हमेशा से किसी सपने की तरह रही है। पन्ना टाइगर रिजर्व और वन विभाग की आपत्तियों के चलते जिले में औद्योगिक विकास नहीं हो सकता। कहने को जिला मुख्यालय से 100 किमी दूर पुरैना में औद्योगिक क्षेत्र बनाया गया है, लेकिन यहां जो उद्योग हैं, उसका लाभ जिले के लोगों को कम ही मिल पाता है। हमेशा से पन्ना में औद्योगिक विकास की बात होती रही, लेकिन अब यह साकार होती दिख रही है। बुधवार को पन्ना में जेके सेम कम्पनी ने सीमेंट प्लांट हेतु लाइम स्टोन के उत्खनन के लिए अनुबंध किया है। इस संबंध में उप पंजीयक रामेश्वर प्रसाद अहिरवार ने बताया कि जिले के अमानगंज तहसील के ग्राम ककरा, देवरा, कमताना, जुड़ी, देवरी पुरोहित की कुल 1594.34 हेक्टेयर भूमि पर लाइमस्टोन के खनन हेतु 50 वर्ष की अवधि के लिए लीज डीड का निष्पादन किया गया। लीज डीड का रजिस्ट्रीकरण 23.09.2020 को राज्य शासन की ओर से संजय मिश्र कलेक्टर पन्ना तथा जेके सेम सेंट्रल लिमिटेड के प्रतिनिधि के द्वारा उप पंजीयक कार्यालय में पन्ना में कराया गया। जिसमें कुल स्टाम्प ड्यूटी एवं पंजीयन शुल्क सहित 36,06,77,747 का राजस्व भी प्राप्त हुआ है। यह अनुबंध अब तक का सबसे बड़ा अनुबंध बताया जा रहा है। राशि का भुगतान सब रजिस्ट्रार रामेश्वर प्रसाद अहिरवार द्वारा ऑनलाइन मोड में कराया गया।

प्रोजेक्ट से क्षेत्र के लोगों को होगा फायदा :

जिले के अमानगंज क्षेत्र में लगने वाले इस प्रोजेक्ट से क्षेत्र के लोगों को खासा फायदा होगा। बताया जाता है कि यहां लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे साथ ही पन्ना में औद्योगिक विकास की शुरूआत भी हो जायेगा। गौरतलब है कि पन्ना जिले के सिमरिया मोहन्द्रा क्षेत्र से लेकर अमानगंज, गुनौर एवं देवेन्द्रनगर क्षेत्र में लाइम स्टोन का भण्डार है। जिसका उपयोग सीमेंट बनाने में होता है। ऐसे में पन्ना में प्रचूर मात्रा में लाइम स्टोन होने के बाद भी सीमेंट प्लांट पन्ना में नहीं लग पा रहे थे। इसके पीछे बड़ा कारण यहां के राजनैतिक शून्यता और वन विभाग को बताया जाता रहा है।

जल्द प्रारंभ होगा सीमेंट प्लांट :

जिले में बृजेन्द्र प्रताप सिंह के खनिज मंत्री बनने के बाद पन्ना में खनिज आधारित उद्योगों के विकास की आज शुरूआत हो गई। जिसमें वन या अन्य किसी प्रकार की कोई बाधा भी सामने नहीं आई। खनिज विभाग द्वारा माईनिंग प्लान को स्वीकृत करते हुए कम्पनी का अनुबंध भी करा दिया है। जिससे अब जल्द ही पन्ना में जेके सेम का सीमेंट प्लाट जल्द प्रारंभ हो जायेगा। विदित हो कि पूर्व में बुंदेलखण्ड इनवेस्टर मीट खजुराहो एवं इंवेस्टर मीट ग्वालियर में भी पन्ना में सीमेंट प्लांट लगाने के लिए कई कम्पनियों ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए थे। लेकिन कोई भी कम्पनी पन्ना में आकर सीमेंट प्लांट लगाने नहीं पहुंची। सारी कवायत एमओयू तक ही सीमित रह गई। लेकिन इस बार जेकेसेम सेंटर लिमिटेड कम्पनी ने पन्ना में काम करने का पूरा मन बना लिया है, जिसका स्पष्ट उदाहरण यह अनुबंध है। कम्पनी ने 50 साल के लिए उत्खनन की अनुमति प्राप्त कर ली है। ऐसे में अब कम्पनी जल्द ही पन्ना में अपने प्लांट की शुरूआत भी करेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co