सुशील को मिला अब तक का 26.11 कैरेट का चौथा सबसे बड़ा हीरा
सुशील को मिला अब तक का 26.11 कैरेट का चौथा सबसे बड़ा हीराAnil Tiwari

Panna : सुशील को मिला अब तक का 26.11 कैरेट का चौथा सबसे बड़ा हीरा

जिले में प्राप्त सर्वाधिक बड़े हीरों में होगा 26.11 कैरेट का हीरा। करोड़ों में लगेगी बोली, खदान संचालकों की किस्मत चमकी। हीरापुर टपरियांन खदान में मिला जेम्स क्वालिटी का नायाब हीरा।

पन्ना, मधयप्रदेश। मध्यप्रदेश के पन्ना जिले की उथली खदान में फिर एक बार हीरे की चमक बिखेरी है। यूं तो अक्सर लोगों को यहां हीरे मिलते हैं, लेकिन कभी ही मौके होते हैं, जब किसी को कोई नायाब हीरा हांथ लगता है। आज भी कुछ ऐसा हुआ, जिसमें अब तक प्राप्त सर्वाधिक बड़े व बेशकीमती हीरों के क्रम में चौथा बड़ा हीरा आज हाथ लगा है। बताया जाता है कि हीरापुर टपरियांन की स्वीकृत हीरा खदान में शहर के सुशील शुक्ला व उनके सहयोगियों को 26.11 कैरेट का हीरा मिला है। हीरा पाते ही सभी साझेदारों की खुशी का ठिकाना नहीं था। सुशील शुक्ला ने बताया कि करीब 20 साल से वे हीरा खदानों में अपनी किस्मत आजमा रहे थे, लेकिन उन्हें कभी हीरा नहीं मिला, लेकिन आज भगवान की कृपा हुई और उनके हाथ एक ऐसा हीरा लगा, जो इतिहास में दर्ज हो जायेगा। सुशील को मिला हीरा अब तक मिले हीरों में चौथे स्थान पर दर्ज हुआ है। इससे पूर्व जिले में सर्वाधिक बड़े हीरों की बात करें तो पन्ना में 15 अक्टूबर 1961 में धाम मोहल्ला निवसी रसूल मोहम्मद को 44.55 कैरेट का हीरा मिला महुआटोला की खदान में मिला था। जो अब तक का सबसे बड़ा हीरा है। इसके बाद शहर के मोतीलाल व रघुवीर प्रजापति को 9 अक्टूबर 2018 में 42.59 कैरेट का हीरा कृष्णाकल्याणपुर में मिला। जबकि तीसरा सर्वाधिक बड़ा हीरा कृष्णाकल्याणपुर (पटी) क्षेत्र में अस्थाई अनुज्ञप्ति धारक बृजेश कुमार उपाध्याय निवासी बडा बाजार पन्ना को आज 29.46 कैरेट का उज्जवल हीरा मिला। इसके बाद आज 26.11 कैरेट का हीरा सुशील शुक्ला व उसके साथियों को मिला है।

उथली खदानों में मिल रहे बेशकीमती हीरे :
गौरतलब है कि जिले में उथली खदानों में बेशकीमती हीरे मिल हैं, जिसके चलते पन्ना की पहचान दुनियां भर में होती है। लेकिन जिले के हीरा उद्योग को बढ़ावा देने की दिशा में सार्थक प्रयास नहीं हो रहे हैं। जिसके चलते पहले ही अपेक्षा अब लोगों का रूझान हीरा तलाशने की ओर कम हुआ है। पूर्व में उथली खदानों के विकास को लेकर बृहद योजनाएं बनाई गई थीं, लेकिन योजनाए पटरी पर नहीं आ सकीं। पन्ना की पहली पहचान हीरा है, और इसके विकास के लिए सब को एक साथ मिलकर काम करना होगा, हीरे से न सिर्फ रोजगार के अवसर है, बल्कि जिले की पहचान भी है।

इनका कहना है :

आज पन्ना में 26.11 कैरेट का हीरा मिला है, यह अब तक का चौथा बड़ा हीरा है। जेम्स क्वालिटी का यह नायाब हीरा है, जिसकी कीमत का आंकलन किया जा रहा है। करोड़ों की कीमत हो सकती है, आगामी हीरा नीलामी में इस हीरे को भी शामिल किया जायेगा।

रवि कुमार पटेल, खनिज अधिकारी, पन्ना

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co