उमरिया : टाइगर स्टेट का दर्जा देने वाला पार्क प्रबंधन के लापरवाही से जला
टाइगर स्टेट का दर्जा देने वाला पार्क प्रबंधन के लापरवाही से जलाRaj Express

उमरिया : टाइगर स्टेट का दर्जा देने वाला पार्क प्रबंधन के लापरवाही से जला

उमरिया, मध्यप्रदेश : विश्व विख्यात टाइगर रिजर्व बांधवगढ़ क्षेत्र में बीते 3 दिनों से वन आग से जूझ रहे हैं। वहीं टाइगर रिजर्व के जिम्मेदार अधिकारी तमाम प्रयासों के बाद भी समय पर आग पर काबू नहीं पा सके।

उमरिया, मध्यप्रदेश। विश्व विख्यात टाइगर रिजर्व बांधवगढ़ क्षेत्र में बीते 3 दिनों से वन आग से जूझ रहे हैं। वहीं टाइगर रिजर्व के जिम्मेदार अधिकारी तमाम प्रयासों के बाद भी समय पर आग पर काबू नहीं पा सके। मामला मीडिया में सुर्खियां बनने और बड़े नुकसान के बाद शांत हो सका।

बांधवगढ टाइगर रिजर्व के संरक्षित क्षेत्र में विगत 3 दिनों से लगी आग मे पर्यटन जोन ताला मगधी व खितौली के जोन कम्पाटमेन्ट नम्बर पी एफ 235, आर एफ 369, आर एफ 364 पूरी तरह से आग की चपेट में जल कर राख हो गया, वहीं दूसरी तरफ संरक्षित क्षेत्र के अन्दर अन्य कम्पाटमेन्ट नम्बर भी कुछ मात्रा में जलें है, जिसमें शंका जतायी जाती हैं की छोटे जीव- जन्तु भी आग की चपेट में आ गये होंगे, लेकिन पार्क प्रबंधन ने वन्य जीवों की आग के चपेट में आने संबंधी चर्चाओ का खण्डन किया है।

मुखिया से नाराज स्थानीय जन :

बांधवगढ टाइगर रिजर्व की जनता प्रबंधन के कार्य से असंतुष्ट हैं, कहीं न कहीं से कोई न कोई जरिया फारेस्ट के जिम्मेदार अधिकारी खामोशी रवैया में ले लेते हैं, स्थानीयजनों की मानें तो प्रबंधन के मुखिया का कभी भ्रमण क्षेत्र में नहीं होता, न स्थानीयजनों की शिकायतों पर गंभीरता से विचार किया जाता है, दूसरी ओर जनता का यह कहना है की यदि जंगली हाथी या जंगली जानवर ग्रामीणों का नुकसान करते हैं, तो पार्क प्रबंधन के मुखिया के पास अपनी समस्या बताने जाते हैं तो, उक्त संबंध में कानून और नियम मांगे जाते हैं और ग्रामीणों को अपनी नुकसान की भरपाई लेने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

मैदानी अमले के साहस से हुआ नियंत्रण :

बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में आग लगने के पश्चात जब कुछ गाइड व वाहन चालक और स्थानीयजनों को पता चला कि आग विकराल रूप धारण कर रही है, जिसे बुझाने के लिए पर्यटन प्रभारी के साथ स्थानीय जन व गाइड जय प्रकाश सोनी, विजय सिंह, इन्द्रेश यादव, मुकेश बर्मन, रामनरेश वर्मन, नरेश सिंह, वीनू सिंह गहरवार पर्यटन प्रभारी व अन्य कर्मचारीगण की उपस्थिति में आग पर काबू पाया जा सका। बांधवगढ़ नेशनल पार्क के कोर क्षेत्र खितौली, ताला, मगधी में भीषण आग लगने की सूचना मिलते ही वन विभाग का अमला गाईड एवं ड्रायवर आग पर नियंत्रण पानें के प्रयास में लग गए। जिला प्रशासन को सूचना मिलते ही कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने आस-पास के ग्राम पंचायतों, नगरीय निकायों सहित सभी विभाग के मैदानी अमले को उपलब्ध संसाधनों के साथ आग बुझानें में सहयोग प्रदान करनें के निर्देश दिए गए। टैंकर, फायर बिग्रेड, बोरवेल आदि के माध्यम से आग बुझाने हेतु पानी एवं संसाधन उपलब्ध कराया गया। भीषण आग पर नियंत्रण पानें की सूचना मिली है।

वन मंत्री हाट एयर बलून से करेंगे निरीक्षण :

प्रदेश के वन मंत्री डॉ. कुंवर विजय शाह 2 अप्रैल को प्रात: 10 बजे कान्हा किसली से प्रस्थान कर सायं 4 बजे बांधवगढ़ टाईगर रिजर्व पहुंचेंगे तथा जंगल सफारी कर पार्क का निरीक्षण करेंगे। 3 अप्रैल को प्रात: काल 5:30 बजे हाट एयर वेलून सफारी से पार्क निरीक्षण करेंगे। 4 अप्रैल को प्रात: काल 5:30 बजे हाट एयर बलून सफारी से पार्क निरीक्षण एवं स्थानीय कार्यक्रम में भाग लेंगे। प्रात: 10 बजे बांधवगढ़ से दमोह के लिए प्रस्थान करेंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co