यात्री बसों के मुसाफिरों को मिली बड़ी राहत
यात्री बसों के मुसाफिरों को मिली बड़ी राहत|Pankaj Yadav
मध्य प्रदेश

छतरपुर: यात्री बसों के मुसाफिरों को मिली बड़ी राहत

छतरपुर, मध्यप्रदेश : एक महीने में 10 हजार से ज्यादा यात्रियों ने की भोपाल यात्रा, यात्री बसों के जानलेवा सफर से मिल रही मुक्ति।

Pankaj Yadav

राज एक्सप्रेस। छतरपुर से भोपाल तक के यात्री बसों के मुसाफिरों को स्टेशन से चलने वाली भोपाल की दो ट्रेनों के कारण बड़ी राहत मिली है। यही वजह है कि, छतरपुर के हजारों लोगों ने अब ट्रेन से ही भोपाल, इंदौर जाने की आदत डाल ली है। ट्रेन के अच्छे सफर के कारण लोगों को बसों के माध्यम से भोपाल, इंदौर तक के जानलेवा सफर से मुक्ति भी मिल गई है। आंकड़ों की मानें तो सिर्फ नवंबर माह में 10 हजार से अधिक लोगों ने छतरपुर स्टेशन से भोपाल की यात्रा की है। इसके अलावा छतरपुर से इंदौर, झांसी जाने वाले यात्रियों की संख्या क्रमश: तीन हजार एवं पांच हजार रही।

किराया कम और सुरक्षित सफर होने के कारण बढ़ रहा रूझान :

छतरपुर से प्रतिदिन शाम 4.50 बजे महामना एक्सप्रेस भोपाल जाती है। यह चेयर कार ट्रेन है जिसका किराया भी 150 रूपए से 200 रूपए के आसपास है। इस ट्रेन के शुरू होने के बाद कई लोगों ने ए.सी. बसों के नाम पर चल रहीं यात्री बसों से किनारा कर लिया है। इन बसों में यात्रियों से 700 रूपए तक वसूले जाते थे। यही नहीं किराया कम होने के साथ-साथ ट्रेन का सफर बेहद सुरक्षित और सुविधाजनक भी होता है जबकि, बसों में अक्सर हादसों और लूट, चोरियों की घटनाएं सामने आती थीं। ऐसे में बड़ी संख्या में मुसाफिर ट्रेन की तरफ रूझान कर चुके हैं। महामना के साथ-साथ खजुराहो-इंदौर एक्सप्रेस भी सप्ताह में चार दिन मंगलवार, शुक्रवार, शनिवार और रविवार को रात 12.05 बजे छतरपुर से रवाना होती है। इस ट्रेन के कारण भी मुसाफिरों ने बसों का सफर त्यागना शुरू कर दिया है।

बसों में हो चुकी हैं हादसे :

छतरपुर से भोपाल, इंदौर चलने वालीं यात्री बसें भले ही ए.सी. स्लीपर के नाम पर दौड़ रही हों लेकिन इन बसों से यात्रा करना मुसाफिरों के लिए कई बार जानलेवा साबित हुआ है। पिछले एक साल में छतरपुर से भोपाल, इंदौर चलने वाली बसों के एक दर्जन से ज्यादा हादसों के मामले सामने आ चुके हैं। पूरी रात सफर करने वाली इन बसों को कई बार बदमाशों और लुटेरों का सामना भी करना पड़ता है, जिससे मुसाफिरों की जान आफत में फंसती नजर आती है।

बसों से यात्रा करना बंद कर चुके थे यात्री :

महामना और खजुराहो-इंदौर एक्सप्रेस शुरू होने के बाद बड़ी संख्या में भोपाल-इंदौर जाने वाले स्टूडेंट और खासतौर पर लड़कियों व महिलाओं ने बसों से यात्रा करना बंद कर दिया है। ये है ट्रेन का समय-महामना एक्सप्रेस- रोजाना शाम 4.50 बजे खजुराहो- इंदौर- मंगलवार, शुक्रवार, शनिवार, रविवार रात्रि 12.05 बजे चलती है। एक माह में मुसाफिरों की संख्या-10 हजार हो गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co