शहडोल : 2 साल से जगह के अभाव में अधर में लटका है पासपोर्ट कार्यालय
2 साल से जगह के आभाव में अधर में लटका है पासपोर्ट कार्यालयRaj Express

शहडोल : 2 साल से जगह के अभाव में अधर में लटका है पासपोर्ट कार्यालय

शहडोल, मध्य प्रदेश : डाक विभाग और जिला प्रशासन की उदासीनता के चलते नहीं मिल रही नागरिकों को सुविधा।

शहडोल, मध्य प्रदेश। विदेश मंत्रालय द्वारा शहडोल में स्वीकृत पासपोर्ट कार्यालय मात्र 300 वर्गफिट का भवन न मिल पाने के कारण 2 साल से अधर में लटका हुआ है। इस महत्वपूर्ण कार्यालय को न तो, कलेक्ट्रेट में भवन मिल रहा है और न ही हेड पोस्ट ऑफिस में।

विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज के कार्यकाल में देश के प्रत्येक संसदीय क्षेत्र में पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केन्द्र खोले जाने का प्रावधान सुनिश्चित किया गया था, इसी वजह से 31 दिसम्बर 2018 को शहडोल के तात्कालीन सांसद ज्ञान सिंह को विदेश मंत्रालय से सूचना दी गई थी। विदेश मंत्रालय ने सांसद ज्ञान सिंह से पासपोर्ट कार्यालय के लिए शहडोल में 300 वर्गफिट का भवन उपलब्ध कराने कहा था।

विदेश मंत्रालय ने क्या लिखा था :

सांसद ज्ञान सिंह को भेजे गये पत्र में विदेश मंत्रालय के सचिव ज्ञानेश्वर एम. मुले ने लिखा था कि विदेश मंत्रालय द्वारा डाक विभाग के साथ मिलकर देश में पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केन्द्र (पीओपीएसके) खोलने की एक नई पहल की गई है। इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक लोकसभा क्षेत्र में जहां अभी तक पासपोर्ट सेवा केन्द्र नहीं है, एक पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केन्द्र खोलने का निर्णय लिया गया है, इस योजना के दूसरे चरण में आपके लोकसभा क्षेत्र शहडोल में पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केन्द्र की स्वीकृति दी गई है। डाक विभाग द्वारा इस मंत्रालय के संज्ञान में लाया गया है कि आपके लोकसभा क्षेत्र के मुख्य डाक घर या अन्य डाकघर में स्थान उपलब्ध न होने के कारण यहां पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केन्द्र की स्थापना करने में कठिनाई हो रही है।

विदेश मंत्रालय ने क्या लिखा था
विदेश मंत्रालय ने क्या लिखा थाSantosh Tandon

मात्र 300 वर्गफिट जगह नहीं मिली :

विदेश मंत्रालय एवं डाक विभाग एक उपयुक्त स्थान की खोज में लगातार प्रयासरत है। ताकि पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केन्द्र की स्थापना की जा सके, किन्तु न तो डाक विभाग अब तक जगह उपलब्ध करा सका और न ही जिला प्रशासन। विदेश मंत्रालय के अनुसार मात्र 300 वर्गफिट की जगह पासपोर्ट केन्द्र की स्थापना के लिए जरूरी है।

इनका कहना है : शहडोल, मध्य प्रदेश।

कलेक्ट्रेट में उपडाक घर के बगल में स्थित भवन से ईवीएम मशीनों को हटवा कर शीघ्र ही पासपोर्ट केन्द्र की स्थापना कराई जायेगी। यह बात सही है कि काफी दिनों से इस महत्वपूर्ण कार्यालय के लिए छोटी सी जगह नहीं मिल पाई है।

डॉ. सतेन्द्र सिंह, कलेक्टर, शहडोल

विदेश मंत्रालय को हमने 3-4 बार ट्वीट किया है, वहां से जवाब मिला कि जगह की उपलब्धता होते ही, केन्द्र खोल दिया जायेगा। पर अभी 300 वर्गफिट जगह भी उपलब्ध नहीं हो पाई है।

सुशील सिंघल, सचिव, पत्रकार नागरिक मंच

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co