पेगासस जासूसी मामला भारतीय लोकतंत्र को बदनाम करने की साजिश : Shivraj Singh
पेगासस जासूसी मामला भारतीय लोकतंत्र को बदनाम करने की साजिश : Shivraj SinghSocial Media

पेगासस जासूसी मामला भारतीय लोकतंत्र को बदनाम करने की साजिश : Shivraj Singh

भोपाल, मध्यप्रदेश : श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस के सारे आरोप बेबुनियाद हैं और इजराइली कंपनी ने स्वयं इसका खंडन करते हुए कोर्ट में ये मामला ले जाने का फैसला किया है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को कहा कि पेगासस जासूसी मामले की झूठ की बुनियाद पर मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को उठाने का प्रयास कर रही है और यह भारतीय लोकतंत्र को बदनाम करने की साजिश है। श्री चौहान ने मंगलवार को अपने निवास पर संवाददाताओं से चर्चा में यह आरोप लगाते हुए कहा कि जासूसी का इतिहास तो कांग्रेस पार्टी का रहा है और उसके पुराने से लेकर अब तक के नेता अपनी ही पार्टी से जुड़े लोगों की जासूसी करवाते रहे हैं। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से लेकर सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी तक के नाम लिए और कहा कि इन नेताओं ने अपनी ही पार्टी के नेताओं की जासूसी करवाई, ताकि उन्हें निपटाया जा सके।

श्री चौहान ने कहा कि इजरायली कंपनी ने स्वयं कहा है कि उसके ज्यादातर ग्राहक पश्चिमी देशों के हैं, तो फिर भारत को क्यों निशाना बनाया जा रहा है। भारत सरकार को इस मामले से जोड़ने का एक भी साक्ष्य नहीं है, लेकिन सच ये है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में गौरवशाली, वैभवशाली और समृद्ध भारत का निर्माण हो रहा है, इसलिए कुछ विदेशी ताकतें और कांग्रेस इसे पचा नहीं पा रहे हैं। इसलिए संसद के मानूसन सत्र के ठीक पहले ये मामला लाया गया, ताकि संसद की कार्यवाही बाधित कर सकें और सरकार को बदनाम किया जा सके। श्री चौहान ने कहा कि जहां तक भाजपा का सवाल है, हम शुचिता की राजनीति करते हैं और पार्टी के गठन के समय से ही हमारे लिए राष्ट्र सर्वोपरि रहा है, लेकिन कांग्रेस के लिए एक परिवार ही सर्वोपरि है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का इतिहास ही जासूसी का रहा है। ये लोग जासूसी करके अपनी पार्टी और देश को कमजोर करते रहे हैं। कांग्रेस का इतिहास सबने देखा है।

प्रदेश में दिग्विजय सिंह ने किया कमलनाथ को निपटाने का कार्य :

श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में भी देखिए, कमलनाथ को निपटाने का कार्य पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने किया। उनके पास पल पल की जानकारी रहती थी और पर्दे के पीछे से सरकार भी स्वयं ही चलाते थे। इसी तरह राहुल गांधी रात्रि में चीन के दूतावास गए। वे गुपचुप क्यों गए, यह उन्हें बताना चाहिए। मणिशंकर अय्यर पाकिस्तान क्यों गए। देश की सरकार गिराने में सहयोग मांगने गए थे। केंद्र में कांग्रेस की तत्कालीन सरकारों ने भी विपक्षी नेताओं के फोन टेप कराए थे।

कांग्रेस के सारे आरोप बेबुनियाद :

श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस के सारे आरोप बेबुनियाद हैं और इजराइली कंपनी ने स्वयं इसका खंडन करते हुए कोर्ट में ये मामला ले जाने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे कांग्रेस के जासूसी संबंधी आरोपों का न सिर्फ खंडन करते हैं, बल्कि उनकी निंदा भी करते हैं। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं दिग्विजय सिंह और कमलनाथ के पास 'सूचियां' और 'पेनड्राइव' रहती हैं, तो वे उन्हें जारी क्यों नहीं करते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co