कैलाश विजयवर्गीय को मिली बड़ी राहत
कैलाश विजयवर्गीय को मिली बड़ी राहतSyed Dabeer Hussain - RE

पेंशन घोटाला मामला : कैलाश विजयवर्गीय को मिली बड़ी राहत

इंदौर, मध्यप्रदेश : 17 साल बाद भी शासन ने इस मामले में अभियोजन की अनुमति जारी नहीं की। इसके चलते विशेष न्यायालय ने इस प्रकरण को ही समाप्त कर दिया।

इंदौर, मध्यप्रदेश। देश-प्रदेश में चर्चित रहा इंदौर नगर निगम का पेंशन घोटाला मामले में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और तत्कालीन महापौर कैलाश विजयवर्गीय को इंदौर के विशेष न्यायालय से बड़ी राहत मिली है।

17 साल बाद भी शासन ने इस मामले में अभियोजन की अनुमति जारी नहीं की है। इसके चलते विशेष न्यायालय ने इस प्रकरण को ही समाप्त कर दिया है। कोर्ट ने कहा है कि अभियोजन स्वीकृति के इंतजार में प्रकरण को अनंतकाल तक लंबित नहीं रखा जा सकता है। भविष्य में परिवादी को अभियोजन स्वीकृति मिल जाती है, तो वे कार्रवाई पुन: संस्थित करने को स्वतंत्र रहेंगे।

मामला 2005 का है। कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने कोर्ट में एक परिवाद दायर कर तत्कालीन महापौर कैलाश विजयवर्गीय, एमआइसी के तत्कालीन सदस्य रमेश मेंदोला, पूर्व महापौर उमाशशि शर्मा, सभापति शंकर लालवानी, निगमायुक्त संजय शुक्ला सहित 14 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी, अमानत में खयानत, कूट रचना आदि का आरोप लगाते हुए इस अपराध में प्रकरण चलाने की मांग की थी। प्रकरण में आरोप लोक सेवकों के खिलाफ होने से राज्य शासन से अभियोजन स्वीकृति अनिवार्य थी, लेकिन शासन से अब तक अनुमति ही नहीं मिली। मामले में विशेष न्यायाधीश मुकेश नाथ ने अभियोजन स्वीकृति के अभाव में प्रकरण समाप्त कर दिया। परिवादी की ओर से पैरवी कर रहे एडवोकेट विभोर खंडेलवाल ने इसकी पुष्टि की है।

33 करोड़ से ज्यादा का घोटाला था :

परिवादी केके मिश्रा ने परिवाद में 33 करोड़ रुपये से ज्यादा को घोटाला करने का आरोप लगाया था। उन्होंने बताया कि 2005 में केंद्र सरकार ने निराश्रित, कल्याणी और दिव्यांग लोगों के लिए इंदिरा गांधी पेंशन योजना की घोषणा की थी। इसके तहत पात्र लोगों को 300 रुपये प्रतिमाह पेंशन दी जाना थी। इस राशि में केंद्र और राज्य शासन दोनों को पचास-पचास प्रतिशत हिस्सेदारी देना थी। केंद्र शासन ने स्पष्ट आदेश दिए थे कि पेंशन के लिए पात्र लोगों को सिर्फ राष्ट्रीयकृत बैंकों और डाकघरों के माध्यम से ही भुगतान किया जाएगा किसी अन्य माध्यम से नहीं। आरोप है कि कैलाश विजयवर्गीय ने महापौर बनने के बाद परिषद की पहली बैठक में ही संकल्प पारित करवा लिया कि पेंशनधारियों को नंदानगर सहकारी साख संस्था के माध्यम से भुगतान किया जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co