धार जिले के किसान मनोज पाटीदार से पीएम की बातचीत
धार जिले के किसान मनोज पाटीदार से पीएम की बातचीतRaj Express

धार जिले के किसान मनोज पाटीदार से पीएम की बातचीत

धार, मध्यप्रदेश : मध्य प्रदेश के धार जिले के एक प्रगतिशील किसान मनोज पाटीदार ने आज कहा कि नए कृषि कानूनों के जरिए किसानों को अपनी फसल बेचने के और अधिक विकल्प मिल गए हैं।

धार, मध्यप्रदेश। धार जिले के तिरला क्षेत्र के किसान मनोज पाटीदार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संवाद किया। श्री मोदी ने आज किसान सम्मान निधि योजना के तहत देशभर के किसानों के खातों में 1800 करोड़ रुपए 'सिंगल क्लिक' के जरिए अंतरित किए। श्री मोदी ने इस दौरान वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए देश के चुने हुए किसानों से संवाद किया, जिसमें मध्यप्रदेश से मनोज पाटीदार शामिल हैं।

किसान मनोज पाटीदार ने श्री मोदी से संवाद करते हुए कहा कि नए कृषि कानूनों की मदद से किसानों को अपनी फसल बेचने के लिए और विकल्प मिल गए हैं। पहले फसल को मंडी में ही बेचना पड़ता था। लेकिन अब निजी कंपनियों को भी फसल बेचने का मार्ग खुल गया है।

युवा किसान मनोज पाटीदार ने अपने अनुभव साझा करते हुए श्री मोदी को बताया कि उसने सोयाबीन की फसल एक निजी कंपनी को बेची थी। उसे यह लाभ हुआ कि फसल की विक्रय दर एक दिन पहले ही मालूम चल गयी। फसल की तुलाई और इससे जुड़े कार्यों में पूरी पारदर्शिता बरती गयी और फसल का भुगतान भी उसी दिन मिल गया। मनोज ने बताया कि कंपनी के लोगों ने फसल की गुणवत्ता को लेकर भी स्थिति साफ कर दी और उसके बाद विकल्प दिया कि यदि वह (किसान) चाहे तो किसी और को फसल बेच सकता है।

उत्साहित किसान मनोज ने बताया कि इस तरह से अपनी उपज बेचने का लाभ क्षेत्र के अन्य किसानों ने भी उठाया है। साथ ही किसान ने कहा कि फसल बेचने की प्रक्रिया में संबंधित कंपनी ने पूरी तरह पारदर्शिता बरती। जबकि किसान पहले अपनी फसल सिर्फ मंडी में ही बेचने को मजबूर होते थे। श्री मोदी ने किसान से अनेक सवाल किए और कहा कि दिल्ली के आसपास जारी आंदोलन के नाम पर कुछ राजनैतिक दल अपनी विचारधारा थोपने का कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ये वही लोग हैं, जब सत्ता में थे, तो किसानों के लिए कुछ नहीं किया और अब कृषि सुधारों का विरोध कर रहे हैं।

किसान ने अवसर का लाभ उठाते हुए श्री मोदी से वन्यजीवों द्वारा खेत में खड़ी फसल को नष्ट करने का मामला उठाया और इसका हल निकालने का अनुरोध किया। श्री मोदी ने इसके जवाब में कहा कि ऐसी ही विचारधारा के लोग, जो किसान आंदोलन के नाम पर देशहित के विपरीत कार्य कर रहे हैं, ऐसे मामलों में किसानों को पर्यावरण संरक्षण के नाम पर किसानों को जेल भिजवाने का कार्य भी करते हैं।

मोदी ने देश भर के किसानों के साथ संवाद करते हुए उन्हें वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित भी किया। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज ङ्क्षसह चौहान राज्य स्तरीय मुख्य आयोजन में होशंगाबाद जिले के बाबई पहुंचे और वहीं से उन्होंने श्री मोदी का संबोधन सुना। इस अवसर पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा और अन्य जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co