पुलिस ने वाहन चोर गिरोह के दो सदस्यों को पकड़ा
पुलिस ने वाहन चोर गिरोह के दो सदस्यों को पकड़ा |Social Media
मध्य प्रदेश

पुलिस ने वाहन चोर गिरोह के दो सदस्यों को पकड़ा

नागदा : पुलिस ने वाहन चोर गिरोह के दो सदस्यों को पकड़ा, दो आरोपियों की निशानदेही पर 7 लाख कीमत के 11 वाहन जब्त

Parvez Aziz

राज एक्सप्रेस। इंदौर, देवास, पचोर, शाजापुर एवं भोपाल से दो पहिया वाहन चुराने वाले गिरोह के दो सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने तीन बुलैट, तीन पल्सर, दो शाईन, दो स्पलैंडर सहित एक हीरा बाईक जब्त की। पुलिस ने आरोपियों को न्यायालय में पेश कर रिमांड मांगा। न्यायालय ने आरोपियों को रिमांड पर पुलिस को सौंपा। 

पलक झपकते ही वाहन चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह के दो सदस्यों को पकड़ने में पुलिस ने सफलता हासिल की है। सीएसपी मनोज रत्नाकर ने बताया कि 23 जनवरी को वाहन चैकिंग के दौरान निम्बोदिया कला निवासी मनीष पिता शांतिलाल उम्र 19 वर्ष को रोककर वाहन के दस्तावेज मांगे, लेकिन वह दस्तावेज बताने में असमर्थ रहा। प्रारंभिक पूछताछ में पुलिस को शंका हुई तो उसको हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। जिसमें मनीष ने वाहन चोरी की वारदात करना कबूला। पुलिस ने मनीष की निशाहदेही पर दो पल्सर, दो शाईन, एक स्प्लैडर और एक हीरो बाईक जब्त की। जबकि दूसरे आरोपी मेहरबानसिंह पिता सरदारसिंह उम्र 26 वर्ष निवासी जवासिया थाना राघवी से तीन बुलैट, एक पल्सर, एक स्पलैंडर जब्त की।

टीआई श्यामचंद्र शर्मा के अनुसार , लगभग सात लाख रुपए कीमत के दो पहिया वाहन जब्त करने के लिए एएसपी अंतरसिंह कनेश के मार्गदर्शन में टीम का गठन किया, जिसमें उप निरीक्षक जीवन भिंडोरे, बबूल डागा, यशपालसिंह, धमेंद्रसिंह, संजीव जाट, जितेंद्र राठोर, नारायणसिंह को शामिल किया।

आरोपियों ने भागने का प्रयास किया :

मेहरबान सिंह द्वारा चलाई जा रही मोटर सायकल सिल्वर रंग की बिना नंबर की बुलेट के कागज के बारे में कोई संतोषजनक जवाब नही देने पर सिल्वर रंग की बुलेट जिसका इंजन नंबर व चेचिस नंबर व उसके साथी मनीष से उसके द्वारा चलाई जा रही बिना नंबर की एचएफ डीलक्स गाड़ी के कागजात के बारे में पूछने पर पुन: भागने का प्रयास करने लगा व संतोषजनक जवाब नहीं देने की स्थिति में बिना नंबर की काले रेंग की एचएफ डीलक्स जिसका इंजन नंबर व चेचिस नंबर को चोरी की शंका होने पर विभिन्न धारा में जप्त कर गिरफ्तार कर थाने लाया गया।

चोरी की बाईक बेचने की तैयारी थी :

टीआई शर्मा ने बातया कि दोनों ने साथ मिलकर भोपाल से तीन बुलेट, पचोर से एक पल्सर, महिदपुर से हीरो होंडा स्प्लेेंडर प्लस, एक पल्सर शाजापुर से, इंदोर विजय नगर से एक एचएफ डिलक्स व देवास कन्नोद से एक होंडा साईन तथा बडऩगर से हीरो स्प्लेंडर प्लस एक पल्सर रतलाम तथा एक होंडा साईन मोटर सायकल नानाखेड़ा से चोरी की थी। आरोपी कई दिनों से चोरी की गई मोटर सायकल को उचित दाम पर बेचने का प्रयास कर रहे थे लेकिन बेचने में सफल नहीं हुए।

इंजन व चैचिस नंबर मिटा देते थे आरोपी :

आरोपी मनीष से पूछताछ करने पर बताया कि चुराई गई कुल गाड़ियों में से 2 होंडा साईन व एक हीरो स्प्लेंडर प्लस, 1 पल्सर व एक एचएफ डीलक्स गाड़ी अपने पास रखी थी। जिसमें से एक एचएफ डीलक्स गाड़ी को बैरछा रोड पर मौके पर जप्त की। आरोपी मनीष की शेष गाड़ियां उसके गांव लिम्बोदिया कला से आरोपी मनीष के घर के पीछे बाढ़े से जप्त की गई हैं। दोनों आरोपियों को जिन गाड़ियों के पकड़े जाने की शंका थी उन गाड़ियों के आरोपी द्वारा इंजन व चेचिस नंबर मिटाये गए हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co