गिरफ्तार जीतू सोनी
गिरफ्तार जीतू सोनी|Social Media
मध्य प्रदेश

पुलिस को शक हनी ट्रैप की हार्ड डिस्क की कई कापी बनवाई जीतू सोनी ने

इंदौर, मध्य प्रदेश: पुलिस को शक है कि हनी ट्रैप की हार्ड डिस्क जीतू सोनी के पास है एवं उसने इसकी कई कापी कर रखी हैं। लेकिन इस बारे में बार-बार पूछने के बाद भी जीतू सोनी ने चुप्पी साध रखी है।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

इंदौर, मध्य प्रदेश। 1.60 लाख के इनामी आरोपी जीतू सोनी से रिमांड पर पूछताछ चल रही है। पुलिस को शक है कि हनी ट्रैप की हार्ड डिस्क जीतू सोनी के पास है एवं उसने इसकी कई कापी कर रखी हैं। लेकिन इस बारे में बार-बार पूछने के बाद भी जीतू सोनी ने चुप्पी साध रखी है। इसके साथ ही होटल माय होम के बारे में भी 'यादा जानकारी पुलिस को नहीं मिल रही है। हनी ट्रैप में कई हस्तियां उलझी हुई हैं। हनी ट्रैप के लिए बनवाई गई एसआईटी भी अब जीतू सोनी से पूछताछ के लिए आ सकती है। जीतू सोनी लंबे अरसे तक पुलिस अफसरों के संपंर्क में रहा है। वह बेहद शातिर है और यही कारण है कि पुलिस कुछ विशेष जानकारी हासिल नहीं कर पा रही है। मंगलवार को भी पुलिस जीतू सोनी को मेडिकल के लिए एमवाय हास्पीटल लेकर गई थी। जीतू सोनी की कोरोना रिपोर्ट भी अभी तक नहीं मिली है।

जीतू सोनी से पुलिस होटल माय होम के बारे में भी कई सवाल किए जा रहे हैं। उन सवालों के जवाब में वह बार-बार यही कह रहा है कि मुझे जबरन फंसाया जा रहा है। मैंने कानून के खिलाफ कोई काम नहीं किया है, सारे आरोपों का जवाब कोर्ट में दूंगा। पुलिस सूत्रों के मुताबिक जीतू सोनी बेहद शातिर है। गिरफ्तारी से बचने के सारे तरीके वह जानता है। यही वजह है कि वह जब इंदौर से गुजरात फरार हुआ तो उसने ड्राइवर को अलग भेज दिया था और खुदका मोबाइल बंद कर लिया था।

सोनिया ने भी साथ छोड़ दिया :

सूत्र बताते हैं कि पुलिस को शरण देने वालों के कुछ नाम पता चले हैं लेकिन उन शरण देने वालों में से कई तो ये भी नहीं जानते थे कि जीतू सोनी इंदौर पुलिस का वांटेड है और उस पर भारी इनाम भी रखा है। कई लोगो को तो जब तक ये बात पता चलती थी जीतू सोनी ठिकाना ही बदल लेता था। जीतू सोनी को कई रिश्तेदारों ने मदद की तो कई ने उससे अपना दामन छुड़ा लिया। जीतू की खास मित्र समझी जाने वाली सोनिया के बारे में भी पता चला है कि उसने भी जीतू सोनी का साथ नहीं दिया। मुंबई में वह जीतू से स्वयं अलग हो गई। जीतू सोनी को कई ऐसे लोगों ने मदद देने से इनकार कर दिया जिन पर उसे विश्वास था। उनके इनकार से वह बेहद निराश हो गया था। परिवार के कई सदस्य भी जीतू के खिलाफ हो गए थे। परिजनों के इस व्यवहार से भी जीतू सोनी को झटका लगा था।

हनी ट्रैप की हार्ड डिस्क के बारे में चुप्पी बनी सिरदर्द :

हनी ट्रैप का मामला उजागर होने के बाद कुछ वीडियो वायरल हुए और कई सफेदपोशों के नाम भी सामने आए। इसे लेकर राजधानी के कई अफसरों की भी नींद उड़ी हुई है। हनी ट्रैप की हार्ड डिस्क पुलिस के लिए पहेली बन गई है। पुलिस को शक है कि जीतू सोनी उस बारे में जानकारी रखता है लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि हनीं ट्रैप को लेकर पुलिस को जीतू सोनी ने कुछ भी नहीं बताया है। डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र बताते हैं कि पुलिस जीतू सोनी से कई बिन्दुओं पर पूछताछ कर रही है। हनी ट्रैप की हार्ड डिस्क के बारे में डीआईजी बताते हैं कि इस मामले में वह चुप्पी साधे हुए है। तुकोगंज के कुछ बड़े मामलों के बारे में जीतू सोनी से पूछताछ और तथ्य मिलने बाकी है। रिमांड की अवधि समाप्त होने के बाद तुकोगंज पुलिस जीतू सोनी का रिमांड लेने की गुहार कोर्ट में लगाएगी। इसके लिए पुलिस की ओर से तैयारियां की जा रही हैं।

रिश्तेदारों की तलाश में जुट गई पुलिस :

जीतू सोनी के गिरफ्तार होने एवं पूछताछ में ज्यादा जानकारी नहीं मिलने के बाद पुलिस इस संभावना पर भी विचार कर रही है कि जीतू के अन्य रिश्तेदारों एवं मित्रों को जीतू के कुछ राज मालूम हो सकते हैं। इसलिए जीतू के रिश्तेदार एवं सहयोगियों की तलाश में क्राइम ब्रांच की टीम एक्टिव हो गई है। जीतू सोनी के परिवार के अन्य सदस्य भाई हुकुम सोनी, पुत्र विक्की सोनी , भतीजा जिग्नेश सोनी, लक्की सोनी व अन्य जीतू सोनी के साथ कुछ प्रकरणों मे सहअभियुक्त है। उनकी तलाश की जा रही है इसके साथ ही अन्य सहयोगियों की भी तलाश की जा रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co