लॉकडाऊन का पालन कराती पुलिस, बेवजह घुमने वाले से गवाए गाने
लॉकडाऊन का पालन कराती पुलिस, बेवजह घुमने वाले से गवाए गाने|Gopal Mavar
मध्य प्रदेश

लॉकडाऊन का पालन कराती पुलिस, बेवजह घूमने वालों से गवाए गाने

लॉकडाऊन के चौथे चरण में नियमों की धज्जियाँ उड़ने के कई मामले सामने आए तो पुलिस अधिकारी भी दल-बल के साथ मैदान में नज़र आए।

Gopal Mavar

Gopal Mavar

राजएक्सप्रेस। लॉकडाऊन के चौथे चरण में नियमों की धज्जियाँ उड़ने के समाचार प्रमुखता से प्रसारित होने के बाद प्रशासन भी हरकत में आया। शनिवार को प्रशासनिक अधिकारी के अलावा थाना प्रभारी भी दल-बल के साथ मैदान में आए। सुबह से ही शहर के प्रमुख चौराहों पर गाड़ियां खड़ी कर के पुलिस ने नया तरीका अपनाते हुए बेवजह घूमने वाले लोगों से गाने गवाए। प्रशासनिक अधिकारी ने अपनी कार्यशैली में ही लोगों को नियम को ताक में रखकर चमकाया। एक अधिकारी तो खुद अपने मिलने वाले से चौराहे पर मशगूल रही और लॉकडाऊन की धज्जियाँ उड़ती रहीं।

लॉकडाऊन का पालन कराती पुलिस, बेवजह घुमने वाले से गवाए गाने
लॉकडाऊन का पालन कराती पुलिस, बेवजह घुमने वाले से गवाए गाने Gopal Mavar

लॉकडाऊन के अंतिम 6 दिन शेष रह गए। शहर पूरी तरह कोरोना मुक्त फिलहाल हो गया है। चौथे चरण का लॉकडाऊन का पालन नहीं हो रहा था। लोग बाजार-सड़कों पर खरीदी करने निकल गए थे। व्यापारी भी एक शटर खोलकर धंधा कर रहे थे। मामला तथ्यात्मक मीडिया में उठा तो प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी हरकत में आए। वरिष्ठ अधिकारियों के कड़े निर्देश के बाद शहर में लॉकडाऊन का पालन कर रहे अधिकारी को फटकार लगाकर कड़ाई से लॉकडाऊन का पालन कराने के निर्देश दिए। पुलिस प्रशासन भी जो इतने दिन से ठंडा हो गया था। थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा ने स्वयं दल के साथ मैदान संभाला। सुबह से लेकर दोपहर तक प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों ने शहर के मुख्य मार्गो पर गाड़ियां खड़ी कर लगातार माईक से अलाउंस कर लॉकडाऊन पालन कराने की चेतावनी देते रहे।

वेवजह घूमने वालों से पुलिस ने सुने गाने

दोपहर 12 बजे तक प्रशासन की गाड़ियां सड़कों पर दौड़ती रहीं, तब तक लोगों की भीड़ हो गई थी। 12 बजे बाद जब गाड़ियां चली गई तो भीड़ में तो कमी आई पर कुछ क्षेत्रो में दुकानदार एक शटर खोलकर व्यापार करते हुए नजर आए। थाना प्रभारी शर्मा ने लोगों को प्रताड़ित व दंडित तो नहीं किया। उन्होंने नया तरीका अपनाते हुए जो वेवजह सड़क पर घूम रहे थे उनसे गाना गाने को कहा। गाना सुनने के बाद उन्हें समझाईश देकर छोड़ दिया।

सेलिब्रेशन पार्टी के बाद व्यापारियों के धैर्य ने भी दिया जवाब

पूरे लॉकडाऊन के दौरान दो नायब तहसीलदार ने जान जोखिम में डालकर रात-दिन मेहनत कर शहर को कोरोना से बचाया। इसमें एक अधिकारी की छोटी सी गलती ने उनकी इतनी दिन की मेहनत पर पानी फेर दिया। उक्त अधिकारी ने कुछ दुकानदारों को चमकाने का प्रयास किया तो उन दुकानदारों ने उन्हीं से सवाल कर लिया की हमारे यहां चार व्यक्ति जरूरत का सामान लेने आ जाए तो लॉकडाऊन का पालन नहीं हो रहा है और आप जन्मदिन की सेलिब्रेशन की पार्टी 40-50 लोगों की रखें तो वहां लॉकडाऊन का पालन माना जाता है। यह सुनकर कुछ जगह तो उन अधिकारियों को नीचे गर्दन कर जाना पड़ा।

इनका कहना

यह बात सही है की चौथे चरण का लॉकडाऊन के दौरान लोग सड़क पर निकलने लग गए हैं। शनिवार को हर चौराहे पर खड़े रहकर जीप में से ही लॉकडाऊन पालन कराने का अलाउंसमेंट किया। बेवजह घूमने वालों से पनिशमेंट के रूप में गाना गाने को कहा। इसके बाद समझाईश देकर छोड़ दिया।

श्यामचंद्र शर्मा, टीआई, मंडी थाना प्रभारी नागदा

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co