शहडोल में सुरक्षित नहीं वर्दीधारी, बदमाशों ने लूटी रिवाल्वर
शहडोल में सुरक्षित नहीं वर्दीधारीसांकेतिक चित्र

शहडोल में सुरक्षित नहीं वर्दीधारी, बदमाशों ने लूटी रिवाल्वर

शहडोल, मध्यप्रदेश : आमजनों की सुरक्षा का दावा करने वाली पुलिस न सिर्फ बदमाशों के द्वारा पीट दी गई, साथ ही सिविल में आये वर्दीधारी के पास रखी शासकीय रिवाल्वर भी बदमाशों ने लूट ली।
Summary

आमजनों की सुरक्षा का दावा करने वाली पुलिस न सिर्फ बदमाशों के द्वारा पीट दी गई, साथ ही सिविल में आये वर्दीधारी के पास रखी शासकीय रिवाल्वर भी बदमाशों ने लूट ली। फिलहाल आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं और घायल वर्दीधारी अस्पताल में भर्ती हैं।

शहडोल, मध्यप्रदेश। मंगलवार की रात करीब 8:30 के आस-पास कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत रेलवे कालोनी ग्राउण्ड के समीप पुलिस लाईन में पदस्थ आर्माेर सोहनलाल विश्वकर्मा से हुए वाद-विवाद के दौरान बदमाशों ने मारपीट की और उससे शासकीय रिवाल्वर छीन ली, पुलिस द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार कोतवाली क्षेत्रांतर्गत बुधवार को फरियादी सोहनलाल विश्वकर्मा निवासी पुलिस लाईन के द्वारा सूचना दी गई कि मंगलवार के करीब रात्रि 09:00 बजे रेल्वे ग्राउड के पास स्टेशन रोड में तीन अज्ञात लोगों द्वारा मेरा रास्ता रोककर मुझसे खाकी रंग का झोला छुड़ाकर ले गए, जिसमें एक रिवाल्वर एवं आरी ब्लेड का फ्रेम लूटकर ले गए, जिस पर थाना कोतवाली में लूट का अपराध पंजीबद्व कर विवेचना शुरू की गई दौरान विवेचना कोतवाली पुलिस द्वारा तत्काल कार्यवाही करते हुए लूट के तीनों आरोपी साबिर खांन पिता मकबूल खांन निवासी की मोहल्ला, मो. शफीक पिता मो.रफीक निवासी की मोहल्ला, रोहित लक्षकार पिता बलीराम लक्षकार निवासी सिहंपुर रोड को गिरफ्तार किया गया। आरोपियों के कब्जे से एक अद्द शासकीय रिवाल्वर, एक पिस्टल एवं तीन जिन्दा कारतूस, एक मोटर सायकिल, आरी ब्लेड का फ्रेम बरामद किये गये।

यह है चौराहों की चर्चा :

रेलवे कालोनी सहित मुख्यालय के कई चौराहों पर बुधवार की सुबह यह चर्चा रही कि मंगलवार की रात तथाकथित सोहनलाल रेलवे कालोनी क्षेत्र में घूम रहा था, उसके द्वारा किसी युवती से छेड़छाड़ की गई, जिसके बाद आस-पास के युवक वहां इकट्ठे हो गये, पुलिसकर्मी वर्दी में नहीं था, जिससे उसकी पहचान संभवत: नहीं हो सकी, कुछ लोगों का कहना है कि वह शराब के नशे में था, लेकिन यह जांच व एमएलसी का मामला है, चर्चा यह भी रही कि मारपीट के दौरान जब वह भागने लगा तो, उसकी पास रखी रिवाल्वर गिर गई, जिसे युवकों ने अपने पास रख लिया।

वरिष्ठों की मंशा पर पानी :

सोहनलाल विश्वकर्मा के संदर्भ में यह जानकारी भी आई कि वह पुलिस लाईन आर्माेर के पद पर पदस्थ हैं, लेकिन मंगलवार की रात वह अपने साथ सिविल डे्रस में शासकीय रिवाल्वर लेकर क्यों घूम रहा था, उसे शासन द्वारा रिवाल्वर प्रदान की गई है या अपने पास रखने के लिए उसने किसी से अनुमति ली थी या नहीं, इस मामले में यह भी सवाल सामने आये कि यदि घटना मंगलवार की रात 9 बजे हुई थी तो, सोहन लाल ने शिकायत बुधवार की सुबह क्यों दर्ज कराई। इस बीच के समय में उसने खुद पुलिसकर्मी होते हुए शासकीय रिवाल्वर की लूट जैसे संगीन मामले में क्यों न्याय के लिए इतनी देर से दरवाजा खटखटाया। बहरहाल मामला चाहे जो भी हो, लेकिन कोतवाली पुलिस ने बदमाशों को चंद घंटो में गिरफ्तार कर अपना फर्ज निभा दिया। किन्तु सोहन लाल जैसे पुलिस कर्मियों ने वरिष्ठ अधिकारियों की मंशा पर पानी फेरने में कोई कमी नहीं छोड़ी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.