छिंदवाड़ा : पुलिस जवान की हत्या कर सिवनी के जंगल में दफनाया शव
पुलिस मामले की छानबीन कर रही छिंदवाड़ा संवाददाता

छिंदवाड़ा : पुलिस जवान की हत्या कर सिवनी के जंगल में दफनाया शव

चांद में पदस्थ प्रधान आरक्षक की हत्या कर सिवनी के जंगल में शव को दफनाने का मामला सामने आते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। वहीं गांव में शोक की लहर छा गई है।

छिंदवाड़ा, मध्य प्रदेश। चांद में पदस्थ प्रधान आरक्षक की हत्या कर सिवनी के जंगल में शव को दफनाने का मामला सामने आते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। वहीं गांव में शोक की लहर छा गई है। वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस कर्मी द्वारा चौरई में मकान बनाने खरीदे गए प्लाट की रजिस्ट्री करने व रजिस्ट्री नहीं होने पर रुपए वापस मांगे जाने पर आरोपितों द्वारा इस घटना को अंजाम देने की बात सामने आ रही है। वहीं, जमीन प्लाट की बिक्री के कार्य में जुटे आरोपितों में से एक आरोपित जिला मुख्यालय सिवनी के एकता कॉलोनी निवासी बताया जा रहा है।

आरोपितों ने पुलिसकर्मी को चौरई के एक कमरे में ही हत्या कर दी

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्लाट खरीदने वाले पुलिसकर्मी ने जब प्लाट की रजिस्ट्री शीघ्र किए जाने की बात कही और रजिस्ट्री नहीं कर सकते तो रुपए वापस कर दें। यह बात कही तो आरोपितों ने पुलिसकर्मी को चौरई के एक कमरे में ही हत्या कर दी। उस वक्त वे पुलिस ड्रेस में थे। साथ ही सूत्रों से यह भी जानकारी मिली है कि हत्या के बाद शव को ठिकाने लगाने के लिए आरोपितों का जिस स्थान पर 4 एकड़ जमीन है प्लाटिंग के लिए रखा गया है उसी स्थान पर पुलिसकर्मी के शव को दफना दिया था।

मृतक फिलहाल चौरई में परिवार के साथ रह रहा था

जिले छिंदवाड़ा के चौरई अनुविभाग के चांद पुलिस थाने में पदस्थ कार्यवाहक प्रधान आरक्षक विजय बघेल (46) की हत्या कर शव को सिवनी के बम्होड़ी (बरघाट) जंगल में दफनाने का मामला सामने आया है। मृतक प्रधाान आरक्षक मूलत: सिवनी के जैतपुर गांव का रहने वाला है, जिसकी पदस्थापना करीब 15-20 दिन पहले छिंदवाड़ा पुलिस लाइन से चौरई अंतर्गत पुलिस थाना चांद में की गई थी। मृतक फिलहाल चौरई में परिवार के साथ रह रहा था। चौरई पुलिस के मुताबिक दो दिन पहले 21 सितंबर को प्रधान आरक्षक विजय बघेल के लापता होने पर छानबीन शुरू की गई।

चौरई पुलिस मौके पर पहुंची

संदिग्ध से पूछताछ में पता चला कि चौरई मे प्रधान आरक्षक की हत्या कर शव को सिवनी लाकर बरघाट बम्होड़ी के जंगल में दफनाया गया है। इसके बाद 23 सितंबर गुरुवार सुबह को आरोपित को साथ लेकर चौरई पुलिस मौके पर पहुंची, जहां शव को निकालने खुदाई की गई। फिलहाल पुलिस सूत्रों के मुताबिक हत्या में शामिल आरोपित राहुल नेमा सिवनी के बारापत्थर क्षेत्र का रहने वाला है। बताया जा रहा है कि मृतक प्रधान आरक्षक व आरोपित एक दूसरे से पहले से परिचित थे।

पुलिस मामले की छानबीन कर रही

हत्या का कारण फिलहाल अज्ञात है, पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। चौरई एस डी ओ पी प्रीतम सिंह बालरे ने बताया कि मृतक प्रधान आरक्षक का शव बरामद करने सिवनी के बम्होड़ी (बरघाट) में पुलिस बल की मौजूदगी में खुदाई कराई गई और शव को निकाल लिया गया बम्होड़ी जंगल में शव निकालने चौरई व जिले के पुलिस बल के मौके पर पहुंचने के बाद लोगों की भीड़ जमा हो गई थी सिवनी-बरघाट मार्ग में बम्होड़ी के आसपास जमा की स्थिति निर्मित हो गई। डूंडासिवनी सहित अन्य थानों के पुलिस बल को भीड़ को नियंत्रित करने मशक्कत करनी पड़ी। खुदाई कार्य में व्यवधान न हो इसलिए रोड को ब्लाक कर किया गया है। इस मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सिवनी श्याम सिंह मरावी ने बताया कि चौरई के पुलिस कर्मचारी की हत्या कर शव को सिवनी के बम्होड़ी जंगल में दफनाने का मामला सामने आया है। चौरई पुलिस आरोपित को साथ लेकर शव निकालने मौके पर पहुंची है, जिला पुलिस द्वारा प्रकरण में सहयोग किया गया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.