मध्यप्रदेश:शिव व नाथ के बीच कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु पर राजनीति जारी

मध्यप्रदेश उपचुनाव में जारी सियासत के दौर में सीएम शिवराज और कमलनाथ के बीच कर्मचारियों की रिटायरमेंट की आयु को लेकर आरोप- प्रत्यारोप की बयानबाजी जारी।
मध्यप्रदेश:शिव व नाथ के बीच कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु पर राजनीति जारी
मध्यप्रदेश सीएम शिवराज सिंह चौहान और पीसीसी चीफ कमलनाथSocial Media

मध्यप्रदेश। प्रदेश की 28 सीटों पर 3 नवम्बर को होने वाले विधानसभा उपचुनाव से पहले कांग्रेस-भाजपा के बीच पक्ष-विपक्ष को बयानबाजियों का दौर जारी है। इसी क्रम में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर शिवराज सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा शिवराज सरकार द्वारा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की रिटायरमेंट उम्र 62 वर्ष से घटाकर पुनः 60 वर्ष करने का फ़ैसला चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के साथ धोखा है।

कमलनाथ के इस ट्वीट का पलटवार करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कमलनाथ जी, रोज सुबह आप आईने में अपने आप को कैसे देख पाते होंगे? अपनी घटिया राजनीति एवं कांग्रेस की हार को सामने देख बौखलाये हुए, आप इस तरह की झूठी अफ़वाहें फैला रहे हैं? ये घिनौना कार्य सिर्फ़ आप और आप की पार्टी ही कर सकती है। प्रदेश की भाजपा सरकार ने ऐसा कोई भी आदेश पारित नहीं किया है। यह पूर्णतः असत्य है कि हमने चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति की आयु घटाई है। वो आज भी 62 वर्ष ही है।

उन्होंने कहा कि अब वक्त आ गया है की जनता आप जैसी झूठ की राजनीति करने वालों को पहचाने और हमेशा के लिए आप से और कांग्रेस से मुक्ति पा ले। आप तो बस अब छिन्दवाड़ा या फिर दिल्ली वापसी की तैयारी कर लीजिये। वहाँ आप की कोठियों के बड़े-बड़े आईने आपकी राह तक रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री होते हुए भी ट्वीट करने से पहले आपने ये जानना भी उचित नहीं समझा की जो अधिसूचना सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी की गई है, वह मंत्रीगण की निजी स्थापना में मंत्रीगण द्वारा अपने कार्यकाल तक के लिए रखे जाने वाले अस्थायी चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों से संबंधित है।

सीएम ने कहा कि दरअसल, सरकार ने उनकी भी कार्य करने की आयु सीमा 40 वर्ष से बढ़ाकर 60 वर्ष की है। इस अधिसूचना का चतुर्थ श्रेणी के स्थायी कर्मचारियों से कोई संबंध नहीं है। उनकी सेवानिवृत्ति की आयु यथावत 62 वर्ष ही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मेरी सरकार हमेशा से ही कर्मचारी हितैषी सरकार रही है, आज भी है और आगे भी रहेगी। आप की तरह तबादला उद्योग चला कर्मचारियों को परेशान करने वाली सरकार नहीं है। हम सब एक टीम की तरह कंधे से कंधा मिलाकर काम करते हैं एवं मध्यप्रदेश के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co