स्वामी विवेकानंद के श्लोको के माध्यम से प्रदेश में शराब पर सियासत
स्वामी विवेकानंद के श्लोको के माध्यम से प्रदेश में शराब पर सियासत|Social Media
मध्य प्रदेश

स्वामी विवेकानंद के श्लोक के माध्यम से प्रदेश में शराब पर सियासत

मध्यप्रदेश में शराब दुकानों की संख्या बढ़ने जा रही हैं इसी पर प्रदेश में सियासत जारी है, जिसके चलते पूर्व सीएम शिवराज ने स्वामी विवेकानंद के श्लोकों के माध्यम से प्रदेश सरकार को घेरा है।

Aditya Shrivastava

राज एक्सप्रेस। भाजपा के वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज स्वामी विवेकानंद जयंती पर स्वामी जी के श्लोकों के माध्यम से प्रदेश में कमलनाथ सरकार द्वारा शराब ठेकेदारों को शहरी और ग्रामीण इलाके में उपदुकान खोलने की कम लाइसेंस फीस के साथ अनुमति देने पर प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा है।

पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने ट्वीट कर कहा कि आज स्वामी विवेकानंद जयंती है, जो शराब जैसे नशे को देश व युवाओं के लिये विनाशकारी मानते थे। उनकी जयंती पर मैं संकल्प लेता हूँ कि यदि कमलनाथ जी की सरकार ने इस फैसले को वापस नहीं लिया, तो मैं जनता के साथ सड़क पर उतरकर शांतिपूर्ण लेकिन घनघोर विरोध करूंगा।

शिवराज ने आगे कहा कि स्वामी विवेकानंद ने कहा था, मनुष्य केवल साढ़े तीन हाथ का हाड़-माँस का पुतला नहीं है। वह अमृत का पुत्र है, ईश्वर का अंश है, अमर-आनंद का भागी है और अनंत शक्तियों का भंडार है। दुनिया में कोई काम ऐसा नहीं जो वो न कर सके।

मध्यप्रदेश को कमलनाथ की कांग्रेस सरकार ने मदिराप्रदेश बनाने का विनाशकारी फैसला लिया है। यह प्रदेश में शराब दुकान के साथ गाँव-गाँव में उपदुकान खोलकर प्रदेश को शराब के नशे में डुबोना चाहते हैं। मैंने दो पत्र लिखकर मुख्यमंत्री कमलनाथ से अपील की है कि इस विनाशकारी फैसले को वापस लें लेकिन उपदुकान खोलने के फैसले को वापस न लेकर कांग्रेस की पूरी टीम केवल मुझ पर हमला करने में लगी हुई है।

साथ ही उन्होंने कमलनाथ सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि मुझे गाली दें, मुझ पर हमला करें, मुझे कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन प्रदेश को तबाह और बर्बाद न करें। मैं फिर अपील करता हूँ कि शराब की उपदुकान खोलने के फैसले को तत्काल वापस लिया जाए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co