द्रौपदी मुर्मू महिला स्व-सहायता समूह सम्मेलन में हुईं शामिल
द्रौपदी मुर्मू महिला स्व-सहायता समूह सम्मेलन में हुईं शामिलSocial Media

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू महिला स्व-सहायता समूह सम्मेलन में हुईं शामिल, सीएम ने कही ये बातें...

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) आज महिला स्व-सहायता समूह सम्मेलन में शामिल हुईं। इस दौरान उनके साथ शिवराज सिंह चौहान और राज्यपाल भी मौजूद रहे।

भोपाल, मध्य प्रदेश। देश की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु (Draupadi Murmu) फिलहाल मध्य प्रदेश के दो-दिवसीय प्रवास पर है। वह मंगलवार को शहडोल में आयोजित राज्‍यस्‍तरीय जनजातीय गौरव दिवस कार्यक्रम में शामिल होने के बाद शाम छह बजे भोपाल पहुंचीं है। भोपाल पहुंचने के बाद द्रौपदी मुर्मू कई कार्यक्रम में शामिल हुईं। ऐसे में आज राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू महिला स्व-सहायता समूह सम्मेलन में शामिल हुईं।

बता दें कि, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू आज महिला स्व-सहायता समूह सम्मेलन में शामिल हुईं। सम्मेलन में राज्यपाल मंगुभाई पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय जनजातीय कार्य मंत्री अर्जुन मुंडा के अलावा भोपाल जिले के प्रभारी भूपेन्द्र सिंह, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया, पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल एवं भोपाल महापौर मालती राय सहित अन्य जनप्रतिनिधि भी मौजूद हैं।

शिवराज सिंह ने कही यह बात:

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस दौरान कहा कि, "राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु जी का जीवन हमें प्रेरणा, हिम्मत, उत्साह देता है। आज हमारी आदर्श, महिला सशक्तिकरण की प्रतीक अगर कोई है तो वह महामहिम राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मु जी हैं।"

उन्होंने कहा कि, "नारी चाहे तो दुनिया में कोई भी बड़े से बड़ा काम कर सकती है। यह सिद्ध करके दिखाया है राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मु जी ने।"

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, "प्रदेश की कोई भी बहन कमजोर नहीं है। महिलाएं अगर ठान ले तो हिम्मत और मेहनत से आगे बढ़कर दुनिया में चमत्कार कर सकती हैं।"

उन्होंने कहा कि, "प्रदेश में संचालित स्व-सहायता समूह के माध्यम से कई बहनों की आय अब एक लाख रूपए से भी अधिक हो गई है। आज मुझे बताते हुए खुशी हो रही है कि, जो काम हमने स्व-सहायता समूह की बहनों को दिए उन्होंने पूरी मेहनत और ईमानदारी से करके दिखाए हैं।"

मुख्यमंत्री ने इस दौरान कहा कि, "मेरी बहनें स्व-सहायता समूहों के माध्यम से जुड़कर विभिन्न उत्पाद बना रही हैं और आर्थिक रूप से सशक्त हो रही हैं। महामहिम राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मु जी के सामने आज सब मिलकर संकल्प लें कि, बेटा-बेटी में कोई फर्क नहीं करेंगे और नशा मुक्त गांव बनाने का भी प्रयास करेंगे।"

उन्होंने कहा कि, "आजीविका मिशन के माध्यम से स्व-सहायता समूह की बहनें सशक्त बन रही हैं। वह साबुन, कपड़े, सैनिटाइजर, फल और सब्जियों के अलग-अलग उत्पाद बना रही हैं। इन बहनों ने अब तय किया है कि, वह गरीब नहीं रहेंगी।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co