शासन के आदेश की खुलेआम धज्जियां उड़ा, चलाया जा रहा प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालय
शासन के आदेश की खुलेआम धज्जियां उड़ा कर चलाया जा रहा प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालय
राज एक्सप्रेस, संवादाता

शासन के आदेश की खुलेआम धज्जियां उड़ा, चलाया जा रहा प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालय

चीताखेड़ा, मध्यप्रदेश : माता का खेड़ा स्कूल में पदस्थ प्रधानाध्यापक एवं स्कूल स्टाफ शिक्षिकाओं ने मुख्यमंत्री के आदेश की खुलेआम धज्जियां उड़ा कर रख दीं।

चीताखेड़ा, मध्यप्रदेश। कोरोना वायरस महामारी की विनाश लीला की तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अनिश्चितकालीन के लिए प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय स्कूलों को बंद करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है। इसके बावजूद नीमच जिले के चीताखेड़ा संकुल केंद्र के अंतर्गत प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय माता का खेड़ा के प्रधानाध्यापक द्वारा स्कूल में 15 से 20 बच्चों को स्कूल परिसर में बैठा रखा था। स्कूली बच्चें स्कूली बैग, लंच टिफिन, पानी की बोतल से लैस होकर स्कूल आये थे। परिसर के नीम की छांव में उन्हें लंच करते हुए देखा गया। माता का खेड़ा स्कूल में पदस्थ प्रधानाध्यापक एवं स्कूल स्टाफ शिक्षिकाओं द्वारा मुख्यमंत्री के आदेश की खुलेआम धज्जियां उड़ा कर रख दी।

संस्था के प्रधानाध्यापक एवं स्कूल स्टाफ पूर्ण महामारी जानलेवा बीमारी से बेखबर होकर जानबूझकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आदेश की खुलेआम धज्जियां उड़ा कर रख दीं। जबकि कोरोना वायरस महामारी की तीसरी लहर छोटे बच्चों को ही अपना शिकार बना रही है। मध्य प्रदेश के संपूर्ण प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालयों को अनिश्चित काल तक प्रदेश के मुख्यमंत्री ने बंद करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है इसके बावजूद जानबूझकर माता का खेड़ा के प्रधानाध्यापक द्वारा संस्था खोलकर बच्चों को बुलाया गया।

ग्राम वासियों ने बताया कि प्रधानाध्यापक कई वर्षों से इसी संस्था में पदस्थ हैं यहां पर मनमर्जी से स्कूल आते-जाते हैं इनके स्कूल आने-जाने का कोई समय नहीं है। संस्था में तैनात जब शिक्षिकाओं से इस मामले की जानकारी ली गई तो बताया कि बच्चों को हमने नहीं बुलाया। बच्चें ही स्कूल आ गए हैं। आश्चर्य की बात तो यह है कि बिना बुलाए बच्चें स्कूल में स्कूली बैग, लंच टिफिन और पानी की बोतल लेकर नहीं आते। कई लोगों ने नीम की पेड़ की छांव में खेलते हुए तो कुछ को लंच करते हुए देखा।

इनका कहना :

मैं मीटिंग में हूं मुझे नहीं जानकारी है कि बच्चें मेरे स्कूल में हैं। मैंने ऐसा कोई आदेश नहीं दिया बच्चों को बुलाने के लिए। फिर भी मैं दिखाता हूं।

विश्वास शर्मा, प्रधानाध्यापक मा. वि. माता खेड़ा

प्रदेश के मुख्यमंत्री का सख्त निर्देश है की अनिश्चितकाल तक पूरे प्रदेश के स्कूल प्राथमिक से माध्यमिक विद्यालय तक बंद रहेंगे। कोरोना की घातक तीसरी लहर से बचने के लिए स्कूली बच्चों को सुरक्षित रखने हेतु स्कूल बंद करने का निर्णय लिया है। कोई भी शिक्षक बच्चों को स्कूल नहीं बुला सकते हैं। अगर ऐसा हुआ है माता का खेड़ा में तो हम जांच करवाएंगे।

रमेश आर्य, संकुल प्रभारी, शा. उ. मा. वि. चिताखेड़ा

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co