निजी हॉस्पिटल, नीम हकीम कर रहे है कोरोना का इलाज
निजी हॉस्पिटल, नीम हकीम कर रहे है कोरोना का इलाज |सांकेतिक चित्र
मध्य प्रदेश

चिकित्सा व्यवसाय से जुड़े निजी हॉस्पिटल, नीम हकीम कर रहे हैं कोरोना का इलाज

मध्यप्रदेश में बढ़ती कोरोना की रफ़्तार से सरकार एवं प्रशासन चिंतित है वही दूसरी ओर बिना रजिस्ट्रेशन के प्रायवेट क्लिनिक हॉस्पिटल गली मोहल्लों के नीम हकीम संदिग्ध मरीजों की जानकारी छुपा रहे हैं।

Gaurav Kapoor

खाचरौद, मध्य, प्रदेश। खाचरौद शहर में संचालित प्रायवेट क्लिनिक हॉस्पिटल नीम हकीमों की अवैध दुकानों पर सर्दी खांसी बुखार का इलाज हो रहा है जहाँ इलाज के लिये मरीजों का तांता लगा रहता है संदिग्ध मरीजों की जानकारी स्वास्थ्य विभाग तक नहीं पहुँचने से कोरोना पॉजिटिव आए लोगों की जानकारी बाहर के अस्पतालों से स्वास्थ्य विभाग को प्राप्त होती हैं ऐसे कुछ मामले सामने आए हैं, जिनकी जानकारी प्रायवेट क्लीनिकों हॉस्पिटल संचालकों ने स्वास्थ्य विभाग से छुपाई है जिसकी वजह से सेंपलिंग में भी स्वास्थ्य विभाग को मशक्कत करना पड़ रही है।

कोरोना संक्रमण की रोकथाम को दृष्टिगत रखते हुए खाचरौद सिविल अस्पताल प्रभारी डॉक्टर संजय पटेल ने जानकारी देते हुए बताया कि खाचरौद सीमा क्षेत्र में बैठकर प्रायवेट रूप से क्लीनिक अस्पताल हॉस्पिटल गली मोहल्लों ग्रामीण अंचलों में बैठकर चिकित्सा व्यवसाय करने वाले संचालकों की अनियमितता सामने आ रही हैं संचालकों द्वारा विकट समय मे स्वास्थ्य विभाग से महत्वपूर्ण जानकारियां छिपाई जा रही हैं जिसको लेकर चिकित्सा व्यवसाय से जुड़े संचालकों की एक अति आवश्यक बैठक 10 सितंबर को दोपहर 1 बजे खाचरौद अनुविभागीय अधिकारी वीरेंद्र दांगी की अध्यक्षता में सिविल अस्पताल खाचरौद में आयोजित होगी।

सिविल अस्पताल प्रभारी संजय पटेल द्वारा संचालकों को बैठक में आवश्यक रूप से उपस्थित होने के लिये सूचना पत्र के साथ चिकित्सा व्यवसाय की जानकारी को फॉर्मेट में भरकर लाने बैठक में आवश्यक रूप से उपस्थिति होने की सूचना संचालकों को भेजी गई हैं उक्त निर्देशों के बाद भी यदि कोई संचालक उपस्थित नहीं होगा तो ऐसे संचालकों पर वैधानिक कार्रवाई की बात अस्पताल प्रभारी संजय पटेल ने कही है।

खाचरौद एवं आसपास के ग्रामीण अंचलों में अपनी दुकानदारी चिकित्सा व्यवसाय से चलाने वाले संचालकों में हड़कंप मचा हुआ है वहीं स्थानीय प्रशासन लापरवाही बरतने वालों पर कड़ी कार्रवाई को लेकर कमर कस चुका है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co