फिसड्डी साबित हुए इंदौर वासी जनता कर्फ्यू की उड़ाई धज्जियां
फिसड्डी साबित हुए इंदौर वासी जनता कर्फ्यू की उड़ाई धज्जियां|Priyanka Yadav -RE
मध्य प्रदेश

फिसड्डी साबित हुए इंदौरवासी, जनता कर्फ्यू की उड़ाई धज्जियां

इंदौर, मध्य प्रदेश : देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर नियम पालन में फिसड्डी हुआ साबित, जनता कर्फ्यू की उड़ाई धज्जियां...

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। कोरोना वायरस के मामलों में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी को देखते हुए कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है। वहीँ दूसरी तरफ इंदौर शहर में जनता कर्फ्यू के दौरान जुलूस निकालने की खबर आई। पीएम नरेंद्र मोदी से लेकर स्थानीय प्रशासन तक लोगों से बचाव और भीड़ न जुटाने की अपील कर रहे हैं।

कोरोना संक्रमण के मद्देनजर मध्यप्रदेश के इंदौर जिले में जनता कर्फ्यू के दौरान मुख्य बाजारों में एकत्र हुए लोगों की पहचान कर उनके विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार

जिला कलेक्टर लोकेश जाटव ने शहर पुलिस उपमहानिरीक्षक रुचि वर्धन मिश्र को आज कार्रवाई के निर्देश जारी किए।

फिसड्डी साबित हुए इंदौर
फिसड्डी साबित हुए इंदौर
Priyanka Yadav - RE

कलेक्टर लोकेश जाटव के द्वारा जारी निर्देश पत्र

कल इंदौर में जनता कर्फ्यू के दौरान शाम को भीड़ इकट्ठा होने की घटना पर गहरी नाराज़गी जतायी है। उन्होंने जनता कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। जाटव ने इस बाबत उप पुलिस महानिरीक्षक इंदौर और क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी इंदौर को वैधानिक कार्यवाही सुनिश्चित करने के लिए कहा है। जिन व्यक्तियों द्वारा जनता कर्फ्यू का उल्लंघन किया गया है, उनकी पहचान वायरल हुए वीडियो से की जाये। उनके वाहनों के नंबर से पहचान कर क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय के माध्यम से कार्रवाई करेंगे।

किसी को भी ग़ैर ज़म्मिेदारी का परिचय देते हुए नागरिकों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा।

कलेक्टर ने साफ़ कहा-

आपको बता दें कि आज सुबह ही जानकारी मिली थी कि मध्यप्रदेश के इंदौर जिले से कोरोना संक्रमण के संदेह में भेजे गए 32 लोगों के सेम्पल की प्राप्त जांच रिपोर्ट में किसी भी व्यक्ति में संक्रमण नहीं पाया गया है। आधिकारिक जानकारी के अनुसार जिले से भेजे गये 13 सेम्पल की जांच रिपोर्ट आज प्राप्त हुयी। इसके पहले प्राप्त 19 रिपोर्ट सहित सभी 32 रिपोर्ट नेगेटिव आयी हैं। इस प्रकार इंदौर जिले में अब तक एक भी व्यक्ति में संक्रमण नही पाया गया है। उक्त सभी मामलों में संदेहियों को 14 दिन चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया है। शासन ने इंदौर के नागरिकों से ‘सोशल डिस्टेंसिग’ बनाये रखने की अपील की है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co