Raj Express
www.rajexpress.co
क्रेडिट सोसायटी चांदामेटा में करोड़ों का घपला
क्रेडिट सोसायटी चांदामेटा में करोड़ों का घपला|Sachin Nandi Parasia
मध्य प्रदेश

छिंदवाड़ा: करोड़ों के घपले को लेकर पूर्व अध्यक्ष को नोटिस जारी

परासिया, छिंदवाड़ा: क्रेडिट सोसायटी चांदामेटा के दो डायरेक्टरों को संस्था विरोधी गतिविधियों के कारण 6 वर्ष के लिए पद से बर्खास्त कर दिया व करोड़ों के घपले को लेकर जांच शुरू कर दी गई है।

Sachin Nandi

राज एक्‍सप्रेस। कोयला मजदूरों की सबसे बड़ी क्रेडिट सोसायटी चांदामेटा के दो डायरेक्टरों को संस्था विरोधी गतिविधियों के कारण 6 वर्ष के लिए पद से बर्खास्त कर दिया गया है। वहीं सोसाइटी में पूर्व में हुए करोड़ों के घपले को लेकर सहकारिता विभाग की ओर से जांच शुरू कर दी गई है।

क्‍यों किया बर्खास्त :

जानकारी के अनुसार, पिछले दिनों सोसाइटी में संचालक मंडल की आवश्यक बैठक हुई, जिसमें संस्था के खिलाफ दुष्प्रचार करने के आरोप में घोड़ावाड़ी के डायरेक्टर देवीचंद्र सूर्यवंशी एवं पाथाखेड़ा के अतुल सूर्यवंशी को पद से बर्खास्त करने के लिए निर्णय लिया गया। पता चला है कि, 6 वर्ष के लिए दोनों को बर्खास्त कर सूचना भेज दी गई है।

क्रेडिट सोसायटी चांदामेटा में करोड़ों का घपला :

वहीं यह जानकारी भी मिली कि, क्रेडिट सोसायटी चांदामेटा में पूर्व वर्षों के दौरान करोड़ों का घपला किया गया है, जिसकी शिकायत कुछ संचालकों एवं संस्था के सदस्यों के द्वारा उच्च स्तर पर की गई है, जिसके बाद विभाग ने जांच कार्रवाई करने का निर्णय लिया है। इसी तारतम्य में एक पूर्व अध्यक्ष को सहकारिता विभाग छिंदवाड़ा के अधिकारी के द्वारा नोटिस जारी कर आगामी 27 सितंबर को पक्ष रखने के लिए कहा गया है। जारी नोटिस में वरिष्ठ सहकारी निरीक्षक एनडी कटरे ने कहा कि, पूर्व अध्यक्ष द्वारा उनके खिलाफ शिकायतों के बारे में अपना पक्ष रखें। अगर इस दौरान उपस्थित नहीं होते हैं, तो समिति के रिकॉर्ड के अनुसार जांच संपन्न कर आगे की कार्यवाही की जाएगी।

बस चला कर करोड़ों का घाटा :

सोसायटी के सूत्रों से पता चला है कि, उच्च स्तर पर जो शिकायत की गई है। उसमें बस चला कर करोड़ों का घाटा करना, फर्जी तरीके से लाखों का डीजल व्यय बता कर गबन करना एवं अन्य वाहनों के रखरखाव के नाम पर लाखों रुपए का फर्जीवाड़ा शामिल है। इसके अलावा छिंदवाड़ा में सोसाइटी के द्वारा खरीदी गई जमीन में विकास शुल्क के नाम पर संस्था को बड़ी क्षति पहुंचाना सहित और भी कई गंभीर आरोप है, जिसमें क्रेडिट सोसाइटी में बड़ी राशि का घपला किया गया है।