आर. के. नारायण की पुण्यतिथि पर सीएम शिवराज ने किया याद, दी श्रद्धांजलि
आर. के. नारायण की पुण्यतिथिSocial Media

आर. के. नारायण की पुण्यतिथि पर सीएम शिवराज ने किया याद, दी श्रद्धांजलि

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज 'मालगुडी डेज' के रचयिता आर. के. नारायण की पुण्यतिथि है, इस मौके पर आज मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विनम्र श्रद्धांजलि दी है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज 'मालगुडी डेज' के रचयिता आर. के. नारायण की पुण्यतिथि है, बता दें कि आज के दिन (13 मई 2001) आर. के. नारायण का निधन हुआ था। आर. के. नारायण की पुण्यतिथि पर आज देश उन्हें याद कर श्रद्धांजलि दे रहा है। इस मौके पर आज मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की है, इसके साथ ही उनसे जुड़ी बातें भी कही हैं।

बता दें, आर के. नारायण का पूरा नाम रासीपुरम कृष्णस्वामी अय्यर नारायणस्वामी था। नारायण अंग्रेजी साहित्य के भारतीय लेखकों में तीन सबसे महान् उपन्यासकारों में गिने जाते हैं। मुल्कराज आनंद तथा राजा राव के साथ उनका नाम भारतीय अंग्रेजी लेखन के आरंभिक समय में 'बृहत्त्रयी' के रूप में प्रसिद्ध है। मुख्यतः उपन्यास तथा कहानी विधा को अपनाते हुए उन्होंने विभिन्न स्तरों तथा रूपों में मानवीय उत्थान-पतन की गाथा को अभिव्यक्त करते हुए अपने गंभीर यथार्थवाद के माध्यम से रचनात्मक कीर्तिमान स्थापित किया है।

सीएम शिवराज सिंह ने ट्वीट कर कही बात-

एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने आर. के. नारायण की पुण्यतिथि पर याद कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, मालगुड़ी का अनोखा संसार रचकर 'स्वामी' के माध्यम से लोगों के हृदय में अमिट स्थान बना लेने वाले उपन्यासकार,कहानीकार आर. के. नारायण जी की पुण्यतिथि पर विनम्र श्रद्धांजलि। स्वामी एंड फ्रेंड्स, गाइड, द डार्क रूम, टॉकेटिव मैन जैसी आपकी अनूठी रचनाएं साहित्य जगत को सुवासित करती रहेंगी।

डॉ. मोहन यादव ने भी किया ट्वीट :

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने ट्वीट कर लिखा- अंग्रेजी साहित्य के प्रमुख उपन्यासकार पद्मविभूषण श्री आर. के. नारायण जी की पुण्यतिथि पर सादर नमन। आमजनों के जीवन से जुड़ी उनकी रचनाएंआज भी लोगों के स्मरण में अपना स्थान बनाये हुए हैं। सादगी और कोमल व्यंग्य की धारा में लिखी उनकी कहानियां सदैव अमर रहेंगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.