Bhopal : टॉस्क को पूरा करने में माहिर माने जाते हैं राघवेंद्र सिंह
टॉस्क को पूरा करने में माहिर माने जाते हैं राघवेंद्र सिंहSocial Media

Bhopal : टॉस्क को पूरा करने में माहिर माने जाते हैं राघवेंद्र सिंह

भोपाल : मध्यप्रदेश के नए प्रमुख सचिव जनसंपर्क विभाग और आयुक्त जनसंपर्क बेदाग छवि वाले अफसर हैं। होशंगाबाद से सहायक कलेक्टर के रूप में शुरू हुआ कैरियर, इंदौर सहित चार जिलों के कलेक्टर रहे हैं सिंह।

भोपाल, मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश के नए प्रमुख सचिव जनसंपर्क विभाग और आयुक्त जनसंपर्क बेदाग छवि वाले अफसर हैं। ब्यूरोक्रेसी में उनकी इमेज अपने काम से काम रखने वाले अफसरों की है। वे टॉस्क को पूरा करने में माहिर माने जाते हैं। इसी का नतीजा है कि उन्होंने 25 वर्ष के कैरियर में कई बड़ी जिम्मेदारी निभाई है। वर्ष 1997 बैच के आईएएस अधिकारी राघवेंद्र कुमार सिंह ने बतौर सहायक कलेक्टर होशंगाबाद जिले से कैरियर की शुरुआत की थी। उनकी तेजतर्रार कार्यशैली का ही नतीजा था कि वे एक-दो नहीं बल्कि पूरे चार जिलों के कलेक्टर रहे। इनमें नंबर वन जिला इंदौर भी शामिल है।

राघवेंद्र सिंह को सबसे पहले कलेक्टरी शहडोल जिले की मिली। वे 23 मार्च 2004 को जिले के कलेक्टर बनाए गए और 9 फरवरी 2005 तक कलेक्टर रहे। दूसरी बार उन्हें दमोह जिले की कमान संभालने का मौेका मिला। उन्हें इस जिले की जिम्मेदारी 12 सितंबर 2005 को दी गई थी और वे मार्च 2006 तक इस पद पर बने रहे। उनकी कार्यशैली का नतीजा यह रहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने गृह जिला सीहोर की कलेक्टरी का मौका उन्हें दिया। वे 20 अप्रैल 2006 से जून 2008 तक जिले के कलेक्टर पदस्थ रहे। लगभग पौने दो वर्ष बाद उन्हें 24 अप्रैल 2010 को इंदौर जैसे प्रदेश के सबसे महत्वपूर्ण जिले का कलेक्टर पदस्थ किया गया। वे 11 जुलाई तक 2012 तक जिले के कलेक्टर रहे। इससे पहले वे मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत इंदौर की भी जिम्मेदारी संभाल चुके थे। वे एमडी टूरिज्म के अलावा एमडी पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी की भी बड़ी जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। प्रमुख सचिव तकनीकी शिक्षा विभाग की जिम्मेदारी संभालने से पहले कमिश्नर वाणिज्यिक कर एमपी इंदौर की भी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी का निर्वहन कर चुके हैं। राघवेंद्र कुमार सिंह मूल रूप से मध्यप्रदेश के रीवा जिले के निवासी हैं। उनका जन्म 14 नवंबर 1968 को हुआ। बीई सिविल के साथ ही इंजीनियरिंग मटेरियल में एमटेक भी हैं। उन्हें पढ़ने और लिखने का भी शौक है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co