सीहोर जिले की नदी में बहे तहसीलदार और पटवारी
सीहोर जिले की नदी में बहे तहसीलदार और पटवारीSocial Media

MP में बारिश का कहर: सीहोर जिले की नदी में बहे तहसीलदार और पटवारी, मिला पटवारी का शव

MP में लगातार हो रही भारी बारिश ने बाढ़ का खतरा बढ़ा दिया है। इसी बीच खबर आई है कि, सीहोर की नदी में तहसीलदार और पटवारी पुलिया पार करते हुए कार सहित बह गए।

सीहोर, मध्यप्रदेश। एमपी में लगातार जारी भारी बारिश ने बाढ़ का खतरा और बढ़ा दिया है। नर्मदा, ताप्ती, शिप्रा, पार्वती, बेतवा और चंबल उफान पर हैं। इसी बीच खबर आई है कि, सीहोर की नदी में तहसीलदार और पटवारी पुलिया पार करते हुए कार सहित बह गए। जिसके बाद यहां हड़कंप मच गया है।

मिली जानकारी के अनुसार, शाजापुर जिले के मोहन बड़ोदिया तहसील में पदस्थ तहसीलदार नरेंद्र सिंह ठाकुर सीहोर के पास सिवान नदी में पुलिया पार करते हुए बह गए। उनके साथ उनके दोस्त और पटवारी महेंद्र रजक भी थे। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर रेस्क्यू टीम पहुंची। उनकी तलाश में सीवन नदी के करबला पुल और काहिरी के पास पुलिस का सर्च अभियान जारी है।

ऐसे हुआ हादसा:

जानकारी के अनुसार, शाजापुर जिले के मोहन बड़ोदिया तहसील में पदस्थ तहसीलदार नरेंद्र सिंह ठाकुर और उनके मित्र नसरुल्लागंज तहसील में पदस्थ पटवारी महेंद्र रजक सीहोर जिले में अपने दोस्त के फार्म हाउस पर पार्टी कर वापस शाजापुर आ रहे थे। वहीं, सीहोर में शिवान नदी पर बने कर्बला पुल पर अपने फोर व्हीलर वाहन से पुल पार कर रहे थे, जहां पानी के तेज बहाव में गाड़ी का संतुलन बिगड़ गया और दोनों सिवन नदी में बह गए सूचना मिलने के बाद मौके पर पुलिस और होमगार्ड के जवान सर्चिंग कर रहे हैं। घटना की जानकारी लगते ही शाजापुर कलेक्टर दिनेश जैन भी सीहोर कलेक्टर से संपर्क साधे हुए हैं।

पटवारी महेंद्र रजक का मिला शव:

बता दें कि, आज बुधवार सुबह करीब 8.30 बजे घटनास्थल से तीन किलोमीटर दूर ग्राम छापरी में पटवारी महेंद्र रजक का शव व कार बरामद हुई है। जबकि तहसीलदार नरेंद्र ठाकुर की तलाश अभी जारी है। यहां पर यह भी बता दें कि, मध्य प्रदेश तहसीलदार संघ के अध्यक्ष हैं, नरेंद्र सिंह ठाकुर।

पटवारी महेंद्र रजक का मिला शव
पटवारी महेंद्र रजक का मिला शवSocial Media

जानकरी के मुताबिक, शाजापुर जिले के मोहनपुर बढ़ोदिया में पदस्थ तहसीलदार नरेंद्र सिंह ठाकुर एवं नसरुल्लागंज तहसील में पदस्थ पटवारी महेंद्र रजक के गायब होने की सूचना पर पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों को मिली थी। बताया जा रहा है कि, ये दोनों सोमवार रात अपने दोस्त राहुल आर्य और महेंद्र शर्मा के साथ बाहर खाना खाने के लिए घर से निकले थे। कार से पार्टी करने रफीकगंज स्थित दोस्त तरुण सिंह के फार्म हाउस पर गए थे। तहसीलदार और पटवारी एक कार में सवार थे, जब मंगलवार की सुबह तक दोनों घर नहीं लौटे, तब परिजनों ने थाने पहुंच कर गुमशुदगी की रिपार्ट दर्ज कराई।

परिजनों के रिपार्ट दर्ज करवाने के बाद पुलिस ने उनकी तलाश शुरू कर दी है। पुलिस ने दोनों की मोबाइल लोकेशन निकाली है। उनकी लोकेशन सीहोर के इंदौर नाका के पास मिली, करीब रात 11 बजे से वहां से गुजरे थे। उनकी कॉल डिटेल निकालने के साथ-साथ पुलिस पूरे मामले की जांच में जुट गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co