जबलपुर : बच्चियों के स्कूल पर रसूकदारों का कब्जा, कर रहे भ्रष्टाचार

जबलपुर, मध्य प्रदेश : एनएसयूआई ने हुसैनिया स्कूल कमेटी भंग कर जांच की मांग को लेकर अतिरिक्त रजिस्ट्रार को सौंपा ज्ञापन।
जबलपुर : बच्चियों के स्कूल पर रसूकदारों का कब्जा, कर रहे भ्रष्टाचार
बच्चियों के स्कूल पर रसूकदारों का कब्जाSyed Dabeer Hussain - RE

जबलपुर, मध्य प्रदेश। एक तरफ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपनी भांजियों के हक के संरक्षण की बात करते हैं। दूसरी तरफ उनकी भांजियों के हक के पैसे के साथ उनके ही अधिकारियों के साथ मिलकर लूट की जा रही है। मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र के दूसरे सबसे बड़े स्कूल हुसैनिया गल्र्स स्कूल में लम्बे समय से रसूकदारों ने कब्जा कर जमकर भ्रष्टाचार किया है, जिसकी जांच एवं कार्यवाही होनी चाहिए। उपरोक्त मांग भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन द्वारा गुरूवार को अतिरिक्त संचालक रजिस्ट्रार फार्म एवं संस्था जबलपुर संभाग को ज्ञापन सौंपा व कमेटी भंग कर रिसीवर तैनात करने की मांग की।

ज्ञापन के दौरान एनएसयूआई महासचिव अदनान अंसारी ने बताया कि वर्ष 2005 से लेकर 2020 तक स्कूल में फीस और अन्य शुल्क जो गरीब छात्राओं के द्वारा जमा किया जाता था। उसका बड़ा हिस्सा स्कूल के अध्यक्ष और सेक्रेटरी गबन कर गये। उस पैसे को बैंक में जमा करने की बजाये उसे अपने निजी कारोबार में लगा दिया। एक तरफ स्कूल के जिम्मेदार करोड़ों की संपत्ति के मालिक हो गये। दूसरी तरफ स्कूल बदहाली के दलदल में चला गया।

इस तरह हुआ घोटाला :

ज्ञापन के दौरान छात्र नेता रिजवान अली कोटी ने बताया हुसैनिया एजुकेशन सोसायटी में 2005 से 2019 तक शिक्षकों द्वारा विभिन्न शैक्षणिक शुल्क जो छात्रों से फीस के रूप में एकत्रित की जाती थी। पूरी रकम शिक्षकों द्वारा सोसायटी के सचिव को नकद दी जाती थी, ताकी पूरी रकम बैंक में जमा कर दी जाए, लेकिन अध्यक्ष एवं सचिव के द्वारा सत्र 2005-06 से लेकर 2018-19 तक शिक्षकों से प्राप्त 1 करोड़ 47 लाख 28 हजार 56 रुपये की रकम में से मात्र 79 लाख 65 हजार 9 सौ 45 रुपये बैंक में जमा कराई गई और 67 लाख 65 हजार 9 सौ 45 रुपये अवरुद्ध कर बैंक में जमा किये गये। 2005 से 2019 तक अवरुद्ध की गई रकम का किसी अन्य मद में व्यय किये जाने का भी कोई रिकार्ड उपलब्ध नहीं है। भ्रष्टाचार की यह पूरी जानकारी स्कूल के कोषाध्यक्ष द्वारा अध्यक्ष और सचिव को जारी किये गए नोटिस में भी दर्ज है।

गरीब छात्राओं के भविष्य को ध्यान में रखकर हो कार्यवाही :

एनएसयूआई की ओर से हजारों गरीब छात्राओं के भविष्य को उपरोक्त मामले की जांच कर कार्यवाही की मांग की गई। इस अवसर पर संगठन के शाहनवाज अंसारी, मो.अली, अपूर्व केसरवानी, बुरहान अली, सेमुअल जेवियर, शफी खान, विराज यादव, एजाज अंसारी, कार्तिक नामदेव, शहबाज खान आदि उपस्थित रहे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co