Ratlam : कलेक्टर ने किया सैलाना-बाजना का औचक निरीक्षण
कलेक्टर ने किया सैलाना-बाजना का औचक निरीक्षणRaj Express

Ratlam : कलेक्टर ने किया सैलाना-बाजना का औचक निरीक्षण

कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने शुक्रवार को जिले के आदिवासी विकासखण्डों सैलाना तथा बाजना क्षेत्र का सघन दौरा किया। निर्माण कार्यों की गुणवत्ता पर एसडीओ को नोटिस, सबइंजीनियर के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश।

रतलाम, मध्यप्रदेश। कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने शुक्रवार को जिले के आदिवासी विकासखण्डों सैलाना तथा बाजना क्षेत्र का सघन दौरा किया। निर्माण कार्य देखे, खराब गुणवत्ता पर सख्त नाराज हुए। आरईएस के एसडीओ सैलाना को शोकाज नोटिस दिया। सबइंजीनियर के विरुद्ध कार्रवाई करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने स्कूलों में पहुंचकर शैक्षणिक व्यवस्था का जायजा लिया, आंगनवाडी भी देखी। इस दौरान जिला वन मण्डलाधिकारी श्री डुडवे, कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी अनूप मिश्रा, एसडीएम श्रीमती कामिनी ठाकुर, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास रजनीश सिन्हा, जनपद पंचायत के सीईओ श्री नलवाया, विजय गुप्ता आदि उपस्थित थे।

क्या अपना घर भी ऐसे ही घटिया बनाओगे :

कलेक्टर सैलाना के माडल स्कूल परिसर में निर्माणाधीन शासकीय कस्तूरबा बालिका आवासीय विद्यालय निर्माण स्थल पर पहुंचे। कलेक्टर ने पाया कि भवन निर्माण में गुणवत्ता का बिल्कुल भी ख्याल नहीं रखा जा रहा है। भवन की फिनिशिंग बहुत खराब है, फ्लोरिंग भी ठीक नहीं की गई। इस पर सख्त नाराज होते हुए कलेक्टर ने एसडीओ तथा ठेकेदार से कहा कि क्या अपना घर भी ऐसे ही घटिया बनाओगे। सरकारी पैसे की बर्बादी हुई तो एफआईआर करवाई जाएगी, जांच की जाएगी। लेब निर्माण नहीं होने पर नाराजगी व्यक्त की। एसडीओ से कहा कि ठेकेदार को इतनी छूट क्यों दी जा रही है। एग्रीमेंट लेकर आने के निर्देश दिए। खराब गुणवत्ता पर एसडीओ अशोक पाटीदार को शोकाज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। ठेकेदार से कहा कि भवन निर्माण में कमी पाए जाने पर भवन तुड़वा दिया जाएगा और शासकीय राशि की वसूली की जाएगी। कलेक्टर निर्माणाधीन भवन की छत पर भी पहुंचे। साथ मौजूद डीएफओ श्री डुडवे ने कहा कि वन विभाग की वानिकी योजना से परिसर में सघन वृक्षारोपण कराया जाएगा। इस 1 करोड़ 28 लाख रुपए की लागत के भवन निर्माण की गुणवत्ता से सख्त नाराज कलेक्टर ने कहा कि ग्राम पंचायत का सचिव भी इससे बेहतर गुणवत्ता का भवन बना सकता है।

सरवन के मांगलिक भवन की गुणवत्ता से भी हुए नाराज :

कलेक्टर ग्राम सरवन पहुंचे। यहां बनाए गए मांगलिक भवन का निरीक्षण किया, निर्माण, गुणवत्ता पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए सबइंजीनियर के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए। वहीं मानिटरिंग नहीं करने पर जनपद पंचायत सीईओ श्री नलवाया के प्रति भी सख्त नाराजगी व्यक्त की और निर्देश दिए कि क्षेत्र का सतत् भ्रमण करते हुए निर्माण की गुणवत्ता पर नजर रखे।

सरवन स्कूल का प्ले ग्राउण्ड सुधारने के निर्देश :

कलेक्टर ने सरवन में शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल का निरीक्षण करते हुए कक्षा संचालन देखा। विद्यार्थियों से चर्चा की। वैक्सीनेशन की जानकारी प्राप्त की। विद्यार्थियों को रोजगार मिले, इस हेतु कौशल उन्नयन पर जोर दिया। प्राचार्य को निर्देश दिए कि हर कक्षा से विद्यार्थियों को चिन्हांकित कर कौशल उन्नयन का प्रशिक्षण दिलवाएं। जनपद सीईओ को निर्देश दिए कि विद्यालय का उबड-खाबड प्ले ग्राउण्ड दुरुस्त करवाएं।

ग्राम झरी की आंगनवाड़ी में बच्चों के खराब स्वास्थ्य पर असंतोष जताया :

कलेक्टर सैलाना विकासखण्ड के ग्राम झरी की आंगनवाड़ी में पहुंचे। वहां बच्चों को देखा तो उनके खराब स्वास्थ्य पर असंतोष जताते हुए निर्देश दिए कि बच्चों के लिए उचित पोषण आहार एवं देखभाल की व्यवस्था की जाए। वैक्सीनेशन का भी पूछा। टेक होम राशन के पैकेट चेक किए। यहां भी भवन निर्माण की गुणवत्ता पर नाराजगी व्यक्त की। गांव के सरपंच मौजूद थे। सरपंच से कहा कि बच्चों के स्वास्थ्य सुधार पर ध्यान दें।

कलेक्टर ने ग्राम सकरावदा के मीडिल स्कूल में पढाई का जायजा लिया। कक्षा 10वीं में बच्चों को पढ़ा रहे शिक्षक नितिन वर्मा की शैक्षणिक गुणवत्ता परखने के लिए उनको पढ़ाई करवाते हुए आब्जर्व किया। इस गणित के पीरियड में शिक्षक द्वारा पढाए गए फार्मूले के बारे में बच्चों से फीडबैक लिया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co