जावरा : बदहाल सिविल अस्पताल का होगा कायाकल्प

जावरा, मध्य प्रदेश : रोगी कल्याण समिति (रोकस) की चार घंटे चली बैठक में विधायक-एसडीएम ओर अस्पताल प्रभारी के बीच चली लंबी चर्चा।
जावरा : बदहाल सिविल अस्पताल का होगा कायाकल्प
बदहाल सिविल अस्पताल का होगा कायाकल्पNilesh Dhariwal

जावरा, मध्य प्रदेश। बदहाल हो चुके शहर के शासकीय चिकित्सालय को पुन: बेहतर बनाने के लिए लम्बे समय से विधायक के प्रयास जारी है। शुक्रवार को दोपहर से लेकर शाम तक करीब चार घंटे चली रोकस की बैठक में अस्पताल के सौन्दर्यीकरण के साथ ही फिजियोथेरेपी सेंटर, डिजीटल एक्स रे, नई ऐम्बूलेंस की खरीदी के साथ ही अन्य सुविधाओं को लेकर चर्चा हुई। 22 लाख की स्वीकृति मिलने के बाद कार्य भी प्रारंभ हो चुका है। शुक्रवार को दोपहर करीब 3 बजे शासकीय चिकित्सालय जावरा के सभागृह में विधायक डॉ राजेन्द्र पाण्डेय, एसडीएम राहुल नामदेव की उपस्थिति में रोगी कल्याण समिति की बैठक हुई। करीब 4 घंटे चली इस बैठक में अस्पताल के सुधार को लेकर चर्चा के बाद विभिन्न निर्णय लिए गए। जिसमें प्रमुख रुप से लंबे समय बाद एक बार फिर तहसील का सबसे बड़े अस्पताल के कायाकल्प पर मंथन चला। जिसमें निर्णय लिया गया कि प्रतिदिन ओपीडी में 2 चिकित्सको अनिवार्य उपस्थित रहेंगे तथा चिकित्सक व सफाई कर्मचारी अब उपस्थिती सेल्फी लेकर नायब तहसीलदार को प्रेषित करेंगे। सिविल परिसर में बाहरी व आंतरिक अतिक्रमण की जांच कर उचित कार्रवाई करने का भी निर्णय लिया गया। कृषि भूमि नीलामी की बकाया राशी के लिए नोटिस जारी कर 10 दिन में राशी जमा नहीं होने पर कुर्की की कार्रवाई तथा अनुपस्थित चिकित्सको के टर्मिनेशन की कार्रवाई का निर्णय लिया। नपा को अस्पताल के खुदे हुए नाले को भरवाने, अस्पताल परिसर के बाहर नपा द्वारा निर्मित दुकानों के पेपर प्राप्त करने के लिए पत्र जारी करने के आदेश दिए।

विधायक निधि से 30 लाख देने की घोषणा :

डायलिशियन के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजना, डिजीटल एक्सरे व एंबुलेंस हेतु स्टीमेंट बनाकर देने की बात कही। साथ ही फिजियोथैरेपी सेंटर बनाने पर चर्चा हुई, परिजन विश्राम गृह के सोफे रिनोवेशन कार्य, अस्पताल में रिनोवेशन, बॉउंड्रीवाल, तार फेंसिंग कार्य के लिए विधायक डॉ. राजेन्द्र पाण्डेय ने निधि से 30 लाख देने की घोषणा की। अस्पताल प्रभारी डॉ. दीपक पालडिय़ा ने बताया कि रोकस के अधक प्रयायों एवं अध्यक्ष सदस्यों के पूर्व बैठक में लिए निर्णयों का निरंतर प्रयासो से सिविल अस्पताल में डे्रनेज सिस्टम, एनआरसी रिनोवेशन, आई ओटी नवीन निर्माण के लिए शासन स्तर से लगभग 22 लाख रूपये स्वीकृत होकर कार्य प्रारंभ हो चुका है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co