Raj Express
www.rajexpress.co
अवैध उत्खनन
अवैध उत्खनन|Pankaj Yadav
मध्य प्रदेश

फोरलेन निर्माण की आड़ में अवैध उत्खनन कर रही पीएनसी कंपनी

छतरपुर, मध्यप्रदेश : क्षेत्र में फोरलेन के निर्माण में पीएनसी कंपनी द्वारा चल रहा है अवैध उत्खनन और राजस्व की चोरी, पेटी ठेकेदारों के माध्यम से क्षेत्र में खोदी जा रही है अवैध रूप से खाईयां।

Pankaj Yadav

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में झांसी से खजुराहो तक फोरलेन का निर्माण कर रही पीएनसी कंपनी निर्माण की आड़ में बड़े पैमाने पर राजस्व चोरी और अवैध उत्खनन करने में जुटी है, वही सरकारी राजस्व चुकाने के बाद जिस मुरम को इस्तेमाल किया जाना चाहिए उस मुरम को कंपनी के पेटी ठेकेदार बिना किसी राजस्व भुगतान के चोरी करने में जुटे हैं। कंपनी ने अलीपुरा से लेकर राजनगर तक कई स्थानों पर मुरम चोरी के लिए किसानों के खेतों में बड़ी-बड़ी खाईयां कर दी हैं। पीएनसी कंपनी ने फोरलेन निर्माण के लिए मलबा फिलिंग का यह काम अपने सब कान्ट्रेक्टर को दे रखा है। ये ठेकेदार किसानों को कुछ पैसा देकर या फिर गांव के दबंगों से मिलकर सरकारी जमीनों से मुरम निकालने का काम कर रहे हैं।

स्थानीय लोगों की सूचना पर पकड़ा :

खनिज इंस्पेक्टर अजय मिश्रा ने बताया कि स्थानीय लोगों के द्वारा सरकारी जमीन पर अवैध उत्खनन की सूचना दी गई थी जिसके बाद सर्वेयर प्रमोद गजभिये के नेतृत्व में खनिज विभाग की टीम ने महोबा रोड बगराजन मंदिर के समीप सरकारी जमीन से लगभग 8 डंपर मुरम निकाली जा चुकी है। एक एलएनटी मशीन को पकड़कर उसके विरूद्ध अवैध उत्खनन का प्रकरण दर्ज किया है। यह मशीन भोपाल के अमन गुप्ता की बताई जा रही है। अमन गुप्ता एक पेटी ठेकेदार है जो पीएनसी कंपनी के लिए मुरम निकालने का काम करता है।

पीएनसी ने चुराया करोड़ों का राजस्व :

उल्लेखनीय है कि छातीपहाड़ी से लेकर बमीठा तक इस फोरलेन का निर्माण किया जा रहा है। लगभग 12 करोड़ रूपए की लागत से बन रही इस फोरलेन सड़क के निर्माण की जिम्मेदारी एनएचएआई की देखरेख में पीएनसी कंपनी को दी गई है। पीएनसी ने छातीपहाड़ी से लेकर बमीठा तक सड़क निर्माण का काफी काम कर दिया है। कंपनी के द्वारा इस सड़क निर्माण में मिट्टी की फिलिंग का जो काम किया जा रहा है वह राजस्व चोरी की बुनियाद पर हो रहा है।

नियम के विरुद्ध किया जा रहा है मुरम का अवैध उत्खननः

नियम के तहत कंपनी को सरकारी अथवा निजी भूमियों से मुरम उत्खनन के पूर्व शासन को इसकी रायल्टी राशि प्रदान करनी पड़ती है लेकिन कंपनी ने बड़ी चालाकी से खुद को इस काम से दूर रखा है। पीएनसी कंपनी के द्वारा छोटे-छोटे ठेकेदारों को मुरम फिलिंग का ये काम दिया गया है। उक्त ठेकेदारों द्वारा सरकारी जमीनों से रसूखदारों की दम पर मुरम चोरी की जा रही है। मुरम चोरी के माध्यम से पीएनसी कंपनी ने करोड़ों रूपए का राजस्व चोरी कर लिया है। एनएचएआई और खनिज विभाग में साठगांठ होने के कारण कंपनी के विरूद्ध कोई ठोस कार्यवाही भी नहीं होती।

एक एलएनटी मशीन को अवैध उत्खनन करते हुए पकड़ा गया है। यह मशीन पीएनसी कंपनी के लिए बाईपास निर्माण हेतु मुरम का अवैध उत्खनन कर रही थी। प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही की जा रही है।

अजय मिश्रा, खनिज इंस्पेक्टर, छतरपुर

जो गाड़ी पकड़ी गई है उससे हमें कोई मतलब नहीं है। ठेकेदार की वैधानिक परमीशन के बाद ही हम उससे मुरम लेते हैं।

श्री स्वामी, मैनेजर ,पीएनसी

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।