CM शिवराज सिंह की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक, गृह मंत्री ने दी जानकारी
CM शिवराज सिंह की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक, गृह मंत्री ने दी जानकारीSocial Media

CM शिवराज सिंह की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक, गृह मंत्री ने दी जानकारी

बुधवार को मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में कोरोना काल में हो रही समस्याओं पर समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक से जुड़ी जानकारी गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दी।

भोपाल, मध्य प्रदेश। देश में कोरोना की दूसरी लहर जारी है। वहीं, देश के राज्य कोरोना से बने हालातों से परेशान हैं और राज्यों की सरकारें अपने लेवल पर सावधानियां बरत रही हैं। इसी बीच आज (बुधवार) मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में कोरोना काल मे हो रही समस्याओं पर चर्चा करने के मकसद से एक समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में कोरोना के चलते पैदा हो रही समस्या से जुड़े कई अहम् मुद्दों पर चर्चा की गई। इस बैठक में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा भी मौजूद रहे और इसकी जानकारी भी उन्होंने ही दी।

CM की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक :

दरसअल, मध्य प्रदेश में भी कोरोना के चलते हालात बिगड़ते नजर आ रहे हैं। इन हालातों के चलते उत्पन्न हो रही समस्याओं पर चर्चा करने के लिए ही आज इस बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में हुई चर्चा की जानकारी देते हुए प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने समीक्षा बैठक के बाद बताया कि, 'प्रदेश में निजी अस्पताल एंबुलेंस के रेट को लेकर लगातार शिकायत आ रही थी जिस पर आज तीन प्रमुख सचिव अधिकारियों की समिति बनाई गई है। इस समिति में मध्य प्रदेश शासन के प्रमुख सचिव संजय दुबे, प्रतीक हजेला और संजय गोयल शामिल है। इन्हे मिलाकर समिति बनाई गई है। जो काम करेंगे।'

अस्पताल में आरही परेशानी की शिकायत :

डॉ, नरोत्तम मिश्रा ने आगे बताया कि, 'यदि अस्पताल में किसी को ज्यादा भुगतान से जुड़ी या कोई अन्य परेशानी की शिकायत आती है तो, वह 181 नंबर डॉयल करके सीधे शिकायत कर सकते हैं जो वहां से ऊपर भेजी जाएगी और इस मामले पर उचित कार्यवाही भी होगी।' इसके अलावा उन्होंने कहा, 'शहरी क्षेत्रों में एंबुलेंस के रेट 10 किलोमीटर के 250 रूपये और उससे बाद 30 रूपये प्रति किलोमीटर निर्धारित किये जाते हैं। वहीं, ग्रामीण क्षेत्र में यह कीमतें 20 किलोमीटर के 500 रूपये और उसके बाद 20 रूपये प्रति किलोमीटर तक तय की गई हैं।'

बैठक से जुड़ी अन्य जानकारी :

डॉ, नरोत्तम मिश्रा ने अन्य जानकारी देते हुए बताया कि, 'एंबुलेंस में वेंटिलेटर के लिए अलग रेट तय किये गए हैं। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने आयुष्मानधारी लोगों के लिए अस्पताल की सूची के निर्देश दिए हैं। कल मुख्यमंत्री ग्रामीण आंचल कलेक्टर SDOP CO और आम जनता से सीधे जुड़ेंगे ताकि इलाज में कोई कमी न हो। वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कलेक्टरों को ग्रामीण क्षेत्र में विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए हैं।'

मुख्यमंत्री का कहना :

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि, 'कोरोना की चेन तोड़ने के लिए शक्ति करना पड़े तो करो, मुझे परिणाम चाहिए आधे अधूरे प्रयास ना हो।' इसके अलावा उन्होंने कहा है कि, 'गरीबों को राशन समय पर मिलना चाहिए और ऐसे समय में ऑक्सीजन, इंजेक्शन दवा की कालाबाजारी करने वालों पर सख्त कार्यवाही की जाए।' बताते चलें, इस समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने एक-एक मामले पर समीक्षा करने के बाद यह निर्णय लिया है कि, 'प्रदेश में ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था है।' खबरों की मानें तो, प्रदेश में 94 ऑक्सीजन प्लांट स्वीकृत किए गए हैं इनमें बड़ी तहसील भी शामिल है और ICU के बेड भी बढ़ाने को लेकर भी आदेश दिए गए हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co