Raj Express
www.rajexpress.co
बालिका जन्म दर वृद्धि पर रीवा को मिला राष्ट्रीय सम्मान
बालिका जन्म दर वृद्धि पर रीवा को मिला राष्ट्रीय सम्मान|Sushil Dev
मध्य प्रदेश

रीवा: बालिका जन्म दर वृद्धि पर रीवा को मिला राष्ट्रीय सम्मान

रीवा, मध्य प्रदेश : बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत मध्य प्रदेश के रीवा जिले में बालिका के जन्मदर में वृद्धि हुई है। इसलिए रीवा जिले को लिंगानुपात में लगातार बेहतर प्रदर्शन के लिए पुरस्कृत किया गया

Sushil Dev

राज एक्सप्रेस। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत मध्य प्रदेश के रीवा में बालिका के जन्मदर में वृद्धि हुई है। इस संदर्भ में शुक्रवार को नई दिल्ली में आयोजित एक समारोह में केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती स्मृति जुबैन ईरानी ने रीवा के डिस्ट्रिक प्रोग्राम अफसर श्रीमती प्रतिभा पांडे को

मौके पर ये रहे उपस्थित:

इस मौके पर उनके विभाग की राज्य मंत्री सुश्री देबाश्री चैधरी भी उपस्थित थीं। रीवा जिले को 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' योजना में जन्म के समय बाल लिंगानुपात में लगातार बेहतर प्रदर्शन के लिए राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत किया गया है।

चुनिंदा 10 जिलों में रीवा :

ज्ञात हो कि, रीवा जिले को देश के 10 चुने हुए जिलों में शामिल किया गया है। पहले प्रदेश को 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए राष्ट्रीय स्तर पर तत्कालीन केन्द्रीय महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती मेनका गांधी ने विगत जनवरी माह में पुरस्कृत किया था। इस योजना के तहत रीवा जिले में विभिन्न जागरूकता कार्यक्रम किए गए। जिले में कम लिंगानुपात वाले गाँवों को चुन कर वहां पर हर घर दस्तक, शक्ति चैपाल, नुक्कड़ नाटक, कठपुतली शो आदि किए गए, साथ ही ऐसे परिवारों को भी सम्मानित किया गया, जिनमें कक्षा में सर्वोच्च स्थान प्राप्त केवल बेटियां हैं। कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए कार्यशाला, जागरूकता रैली, मानव श्रृंखला, रंगोली प्रतियोगिता की गई। आँगनवाड़ी केंद्रों में जन्मोत्सव एवं बिटिया उत्सव मनाए गए। महिला-बाल विकास विभाग द्वारा जिला और परियोजना स्तर पर विद्यालयों और महाविद्यालयों में कार्यशाला की गई। अस्पतालों में नवजात बालिकाओं और उनके परिजनों का स्वागत किया गया।

आंकड़े में बेटियों का जन्मदर :

वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार, रीवा जिले में जन्म के समय बाल लिंगानुपात 885 था। जिले को अप्रैल 2016 में जब योजना में शामिल किया गया था, तब बाल लिंगानुपात 919 था। वर्ष 2018-19 में यह बढ़कर 934 हो गया है।

रीवा जिले में आंकड़े में बेटियों का जन्मदर
रीवा जिले में आंकड़े में बेटियों का जन्मदर
Syed Dabeer Hussain - RE

लिंगानुपात में वृद्धि के लिए रायगढ़ को भी किया गया सम्मानित :

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले को बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम में उल्लेखनीय कार्य के लिए केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा पुरस्कृत किया गया है। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती स्मृति ईरानी ने रायगढ़ कलेक्टर यशवंत कुमार को दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में सम्मानित किया। उल्लेखनीय है कि, रायगढ़ जिले ने पिछले पांच वर्षो में जन्म आधारित लिंगानुपात में देश भर में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। वर्ष 2014-15 से वर्ष 2018-19 के मध्य जन्म आधारित लिंगानुपात में रायगढ़ जिले का प्रदर्शन उत्कृष्ट रहा है। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत शासन द्वारा देश भर के 5 राज्यों एवं 10 चयनित जिलों को सम्मानित किया गया है, जिनमें से रायगढ़ एक है।

लिंगानुपात में वृद्धि के लिए रायगढ़ को भी किया गया सम्मान
लिंगानुपात में वृद्धि के लिए रायगढ़ को भी किया गया सम्मान
Sushil Dev