रिश्वतखोरी से लगाया दौलत का इतना अम्बार कि जाँच अधिकारी हुए हैरान
रिश्वतखोरी से लगाया दौलत का इतना अम्बार कि जाँच अधिकारी हुए हैरान|Deepika Pal - RE
मध्य प्रदेश

रिश्वतखोरी से लगाया दौलत का इतना अम्बार कि जाँच अधिकारी हुए हैरान

रीवा, मध्यप्रदेश: जिले में लोकायुक्त की टीम ने बड़ी छापामार कार्रवाई करते हुए सांख्यिकी विभाग के संयुक्त निदेशक को बड़ी रिश्वत राशि के साथ किया गिरफ्तार।

Deepika Pal

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश में रिश्वतखोरी के मामलों पर लोकायुक्त की कार्यवाहियां लगातार जारी हैं इसके चलते ही प्रदेश के रीवा जिले से रिश्वतखोरी का मामला सामने आया है जिसमें सांख्यिकी विभाग के संयुक्त निदेशक के भोपाल स्थित आवास पर लोकायुक्त की टीम ने कार्रवाई करते हुए 35 लाख नगदी के साथ सोने-चांदी के आभूषण जब्त किए। दरअसल लोकायुक्त की टीम ने इससे पहले संयुक्त निदेशक को डेढ़ लाख रूपए की रिश्वत लेते हुए धर-दबोचा था। जिसमें अभियुक्त निदेशक को कार्रवाई के बाद जमानत दे दी गई थी। फिलहाल मामले पर लोकायुक्त द्वारा कार्रवाई जारी है।

क्या है पूरा मामला :

जानकारी के मुताबिक, लोकायुक्त रीवा की टीम को पिछले दिनों शिकायतकर्ता ठेकेदार संतोष द्विवेदी से शिकायत मिली थी कि, योजना आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग के संभागीय संयुक्त संचालक आर के झारिया ने विधायक निधि के तहत कार्य में प्रशासनिक अनुमति दिलवाने के एवज में रिश्वत की मांग की है। दरअसल विधायक निधि से ग्रामीण क्षेत्र में पानी का टैंकर व 10 गांवों में यात्री प्रतीक्षालय बनवाने के लिए विधायक निधि से 71,22,500 रुपए की धनराशि जारी की गई थी। रिश्वत के नाम पर डेढ़ लाख रूपए का सौदा तय हुआ था। जिस मामले में शिकायतकर्ता की शिकायत पर लोकायुक्त एसपी राजेन्द्र वर्मा ने प्रवेंद्र कुमार व निरीक्षक अनूप सिंह ठाकुर के नेतृत्व में 16 सदस्यीय टीम का गठन कर कार्रवाई के निर्देश दिए। जिसके बाद योजना के अनुसार जैसे ही ठेकेदार पैसे लेकर संयुक्त संचालक के कार्यालय पहुंचा लोकायुक्त की टीम ने रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है। उनके विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला पंजीबद्ध कर लिया गया है।

अधिकारियों की टीम ने आवास पर मारा छापा :

इस मामले में कार्यवाही को आगे बढ़ाते हुए अधिकारियों की टीम ने अभियुक्त संयुक्त संचालक के भोपाल में कस्टम कॉलोनी स्थित आवास पर छापा मारा। दरअसल रिश्वत लेने की कार्यवाही करने के बाद लोकायुक्त की टीम द्वारा अभियुक्त संचालक पर नजर रखी जा रही थी। कार्रवाई के तहत लोकायुक्त की टीम को 35 लाख रूपए नगद के साथ सोने-चांदी के आभूषण भी बड़ी बरामद हुए हैं जिसमें अभियुक्त संचालक के घर में छापामार कार्रवाई में एक डिब्बे के अंदर से 500-500 की कई गड्डियों में 35 लाख रूपए से ज्यादा नगद मिला। कार्रवाई के समय अभियुक्त संचालक घर पर मौजूद नहीं था। लोकायुक्त पुलिस के मुताबिक अनुमान लगाया गया कि, इससे ज्यादा भी नगद अभियुक्त के पास होगा। वहीं नोटों की ज्यादा मात्रा मिलने पर गिनने के लिए मशीन भी बुलानी पड़ी थी। हालांकि लोकायुक्त की टीम द्वारा अब झारिया के बैंक लॉकर तलाशी की तैयारी और भोपाल के साथ रीवा के आवासों पर भी छापामार कार्रवाई की जा रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co