इंदौर में अतिक्रमण हटाने को लेकर सबसे बड़ी कार्रवाई, किए 2 गार्डन ध्वस्त
इंदौर में अतिक्रमण हटाने को लेकर सबसे बड़ी कार्रवाई, किए 2 गार्डन ध्वस्तSocial Media

इंदौर में अतिक्रमण हटाने को लेकर सबसे बड़ी कार्रवाई, किए 2 गार्डन ध्वस्त

मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में शुक्रवार को अतिक्रमण हटाने को लेकर सबसे बड़ी कार्रवाई की गई। इस कार्रवाई के तहत शुक्रवार की सुबह शहर के दो बड़े गार्डन ध्वस्त कर दिए गए।

इंदौर, मध्य प्रदेश। देश में पहले भी कई राज्यों में अतिक्रमण हटाने को लेकर कार्रवाई की गुई है, लेकिन मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में शुक्रवार को अतिक्रमण हटाने को लेकर सबसे बड़ी कार्रवाई की गई। इस कार्रवाई के तहत शुक्रवार की सुबह शहर के दो बड़े गार्डन ध्वस्त कर दिए गए। बताते चलें, पिछले दिनों प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने अवैध निर्माण कर संपत्ति बनाने वालों, अपराधियों और माफिया के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश जारी किए थे। इसी के तहत यह बड़ी कार्रवाई की गई है।

माफिया अभियान के तहत सबसे बड़ी कार्रवाई :

दरअसल, मध्य प्रदेश में पिछले दिनों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आदेश के बाद यह इंदौर शहर में की गई सबसे बड़ी कार्रवाई है। यह कार्रवाई एंटी माफिया अभियान के तहत करते हुए शुक्रवार की सुबह कनाड़िया रोड पर बने रिवाज और प्रेम बंधन नाम के दो गार्डन पर बुलडोज़र चला कर उन्हें ध्वस्त कर दिया गया। बता दें, यह कार्रवाई तब की गई जब स्थानीय लोग सुबह सोकर भी नहीं उठ पाए थे। इतना ही नहीं इस अभियान के तहत गार्डन के साथ ही इन गार्डन के मालिकों के परिवार के दो-तीन मकानों पर भी बुलडोज़र चलाया गया है। खबर यह है कि, इन पर बुलडोज़र इसलिए चलाया गया क्योंकि, इनका निर्माण अवैध तरीके से किया गया था और यह दोनों गार्डन शासकीय सीलिंग की जमीन पर बनाए गए थे।

तोड़ी गई 10 से ज्यादा दुकानें :

प्राप्त जानकारी के अनुसार, ध्वस्त किए गए गार्डन में बताया जा प्रेम बंधन गार्डन सलीम पटेल का और रिवाज गार्डन सोहराब पटेल का बताया जा रहा है। नगर निगम, प्रशासन और पुलिस द्वारा की गई इस संयुक्त कार्रवाई के लिए गुरुवार की रात से ही पूरी तैयारियां कर ली गईं थीं और सुबह होते ही सभी टीमें अपने काम में लग गईं। इस कार्रवाई के तहत रिवाज गार्डन का आफिस भी तोड़ दिया गया। जबकि प्रेम बंधन गार्डन के बाहर लगने वाली छोटी-छोटी सभी दुकानें और ठेले भी हटा दिए गए। बताते चलें, इस कार्रवाई के तहत न केवल गार्डन तोड़े गए बल्कि सड़क की दूसरी ओर अवैध रूप से बनी हुईं 10 से ज्यादा दुकानें भी तोड़े जाने की खबर है।

कार्यवाई में शामिल कर्मी :

बताते चलें, इस मामले में की गई कार्यवाई में पुलिस के 80 सिपाही, चार थाना प्रभारी, दो एएसपी, नगर निगम के अपर आयुक्त और 100 से अधिक कर्मचारी, अपर कलेक्टर, SDM और तहसीलदारों की टीम शामिल है। अतिक्रमण ध्वस्त करने की करवाई पर ड्रोन कैमरों के माध्यम से नज़र रखी जा रही है। बता दें, प्रेम बंधन गार्डन में 470 वर्गमीटर (लगभग पांच हजार वर्गफीट) अवैध निर्माण और रिवाज गार्डन लगभग 4 हजार वर्गफीट अवैध निर्माण किया गया है। इस मामले में अपर आयुक्त संदीप सोनी ने बताया कि,

'रिवाज गार्डन पूरी तरह अवैध है और प्रेमबंधन गार्डन को 1998 में जालसाजी से पंचायत से ली गई अनुमति के आधार पर बनाया गया है। भूमाफियाओं ने जो बिल्डिंग परमिशन बताई है, उसमें सरपंच के हस्ताक्षर हैं जबकि सचिव के हस्ताक्षर भी होने चाहिए। माफियाओं और तत्कालीन सरपंच के खिलाफ एफआइआर कराई जाएगी।'

संदीप सोनी, अपर आयुक्त

अधिकारियों ने बताया :

अधिकारियों ने बताया है कि, 'यह कार्रवाई शुक्रवार सुबह करीब 6 बजे शुरू की गई।कनाड़िया रोड पर 750 मीटर लंबाई में दोनों तरफ 150 अवैध निर्माण तोड़े गए। प्रेमबंधन गार्डन को तोड़ने की कार्रवाई सुबह छह बजे से शुरू की गई। इसके साथ ही रिवाज गार्डन को भी तोड़ा जा रहा है। कार्रवाईस्थल पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया। कनाड़िया रोड पर वाहनों की आवाजाही रोककर कार्रवाई की गई। अब तक कोई भी पक्ष विरोध करने नहीं पहुंचा। तोड़फोड़ की कार्रवाई शांतिपूर्ण ढंग से जारी है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.